कानपुर कां’ड : क्या विकास दुबे का एनका’उंटर फ’र्जी था ? योगी आदित्यनाथ ने दिया ये जवाब

अयोध्या में राम जन्मभूमि पूजन के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने खास बातचीत की. इस बातचीत के दौरान उन्होंने कई मुद्दों पर जवाब दिया. साथ ही उन्होंने का’न’पुर गो’ली’कां’ड के आ’रोपी गैं’ग’स्टर विका’स दु’बे के एन’का’उंटर पर भी अपनी बात रखी.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि बतौर सीएम यूपी की सुरक्षा की जिम्मेदारी संभाली और इस कार्य को मैंने पिछले तीन सालों से बड़े नजदीक से महसूस किया है. हमारी प्रतिबद्धता उत्तर प्रदेश की 24 करोड़ जनता को सुरक्षा देना है. प्रदेश की जनता को सुरक्षा प्रदान करना हमारा दायित्व है.

वि’कास दु’बे ए’नका’उंटर पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि रा’क्षसी प्रवृ’तियों का ना’श होना ही चाहिए. संत प्रवृ’तियों का उत्थान होना चाहिए. सज्जनों के उत्थान के लिए और दु’ष्टों के द’मन के लिए राजसत्ता को हमेशा तैयार रहना चाहिए. पिछले तीन सालों में उत्तर प्रदेश में अप’राध कम हुए हैं. कानू’न व्यवस्था की स्थिति बेहतर है और आगे भी बेहतर स्थिति होगी.

क्या विका’स दु’बे का एनका’उंट’र सही था या नहीं, इस सवा’ल के जवाब में सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उसकी जांच चल रही है. सुप्रीम कोर्ट ने उसके लिए एक न्यायिक आयोग गठित किया है. हमने भी एक एस’आई’टी गठित की है. जो भी परिणाम सामने आएंगे, उससे दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा.

बि’करू कां’ड और दह’शतग’र्द विका’स दु’बे के एन’काउं’टर की जां’च करने के लिए सुप्री’म को’र्ट की ओर से गठित की गई तीन सदस्यीय जांच समिति मंगलवार को कानपुर पहुंची। समिति के अध्यक्ष सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज बीएस चौहान, पूर्व डीजीपी केएल गुप्ता और न्यायिक आयोग के पूर्व जज शशिकांत समेत पु’लिस व प्रशासन के आलाधिकारी बिकरू पहुंचे। समिति ने घटनास्थल का निरीक्षण किया और ग्रामीणों के ब’यान द’र्ज किए।

ग्रामीण समिति के सामने बोले, विकास दुबे आ’तं’की था, उसके रहते जी’ना दू’भर था। बिकरू कां’ड की जांच के लिए पहले शासन ने एस’आई’टी और न्यायिक आयोग का गठन किया था। इस बीच सुप्रीम कोर्ट में याचिका दे सिटिंग जज से मा’मले की जांच कराने की मांग की गई थी। सुप्रीम कोर्ट ने सिटिंग जज से जांच कराने से इं’कार कर यूपी सरकार से जांच समिति गठन करने के निर्देश दिए थे।