बड़ी ख़बर: वसीम रिज़वी ने छपवाया नया कुरान, SC में दुबारा इतनी आयतों को ह’टाने की करी मांग

उत्तर प्रदेश शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन वसीम रिजवी फिर से सुर्खियों में आ गए हैं. वसीम ने खुद एक नई कुरान पब्लिश कराई है. इस कुरान में कई ब’दलाव किए गए हैं. इसके साथ ही कुरान में दर्ज 26 आय’तों को भी ह’टवा दिया है. ये वही आयते हैं, जिन्हें वसीम ने आतं’कवाद को बढ़ावा देने वाला बताया था. वसीम रिजवी ने नई कुरान की पहली ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (AIMPBL) के अध्यक्ष मौलाना राबे हसनी नदवी को भेजने का फैसला किया है.

 

प्रधानमंत्री को लिखी थी चिट्ठी

वसीम रिजवी ने बीते दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक लेटर लिखा था. जिसमें वसीम ने बताया कि उन्होंने एक नई कुरान लिखी है. उन्होंने लिखा कि कुरान की इन आयतों में अ’त्यचार, धा’र्मिक उ’न्माद फै’लाने वाली बातों का जिक्र है, इसलिए पुरानी को बैन करें. साथ ही नई कुरान को सभी मदरसों और मु’स्लिम समाज में पढ़ाई जाने की व्यवस्था सुनिश्चित कराने की भी मांग की.

वसीम ने कहा था कि मैंने कुरान का अध्ययन किया. इसमें पाया गया कि कुरान-ए-मजीद में 26 आयत ऐसी हैं, जो अल्लाह का कथन नहीं हो सकती. ये आयतें आतं’कवाद, चरमपं’थी और कट्ट’रपंथी मानसिकता को ब’ढ़ावा देने वाली हैं. इससे मु’स्लिम समाज में आतं’की विचारधारा पै’दा हो रही है.

SC ने लगाया था 50,000 का जुर्माना

बता दें कि वसीम रिजवी ने सुप्रीम कोर्ट में कुरान की 26 आयतों को ह’टाने के लिए एक याचिका दाखिल की थी. कोर्ट ने 12 अप्रैल को याजिका खारिज करते हुए रिजवी पर 50 हजार रुपये का जुर्माना लगाया था.

दी थी ये दलीलें

सुप्रीम कोर्ट में दायर याचिका में वसीम रिजवी का कहना था कि मदरसों में बच्चों को कुरान की इन आयतों को पढ़ाया(अपने तरीके से मतलब बता कर ) जा रहा है, जिससे उनका जहन कट्ट’रपंथ की ओर ब’ढ़ रहा है. याचिका में कहा गया था कि कुरान की इन 26 आयतों में हिं’सा की शिक्षा दी गई है. कोई भी ऐसी तालीम जो आतं’कवाद को बढ़ावा देती है, उसे रोका जाना चाहिए. रिजवी का ये भी कहना है कि इन आयतों को कु’रान में बाद में शामिल किया गया है. देशहित मे कोर्ट को इन आयतों को ह’टाने के आदेश देने चाहिए.

हुआ था काफी विरोध

गौरतलब है कि उनकी इस याचिका पर काफी विरो’ध हुआ. मु’स्लिम समाज के कई लोग आ’क्रोशित हो गए थे. उन्होंने रिजवी के खि’लाफ कार्रवाई की मांग भी की. कई जगह वसीम रिजवी के खि’लाफ रिपोर्ट भी दर्ज कराई गई. इतना ही नहीं उनके परिवार ने भी उनके खि’लाफ विरो’ध जताया था.