वि’कास दुबे के एनकाउं’टर पर MP के पूर्व सीएम दिग्ग्विजय सिंह का आया बड़ा बयान

यूपी के मोस्ट वांटेड अपरा’धी वि’कास दुबे के एनकाउं’टर में मा’रे जाने पर कांग्रेस नेता और एमपी के पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने कहा कि जिसका श’क था वही हो गया. दिग्विजय सिंह ने गुरुवार को बातचीत में आशं’का जताई थी कि विका’स दुबे की ह’त्या की जा सकती है. जिन राजनीतिक लोगों ने उसे सं’रक्षण दिया वही उसकी ह’त्या करवा सकते हैं. दिग्विजय सिंह ने सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में SIT से मा’मले की जांच कराने की मांग की थी.

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने गुरुवार को उज्जैन में गैं’गस्टर विका’स दुबे की गि’रफ्तारी के बाद कहा था कि उसे राजनीतिक सं’रक्षण देने वाले ही उसकी ह’त्या करा सकते हैं. इसलिए सुप्रीम कोर्ट की नि’गरानी में SIT से मा’मले की जांच करायी जानी चाहिए. उन्होंने मांग की थी कि उत्तर प्रदेश पुलिस के ह’त्यारे गैं’गस्टर विका’स दुबे को न्यायिक हि’रासत में रखा जाए और सुरक्षा भी मुहैया करा’ई जाए. गैं’गस्टर को राजनीतिक संगरक्षण देने वाले ही उसकी ह’त्या करा सकते हैं.

दिग्विजय के सवाल

दिग्विजय सिंह ने यह भी कहा कि यह पता लगाना आवश्यक है कि वि’कास दुबे ने मध्य प्रदेश के उज्जैन के महाकाल मंदिर को सरें’डर के लिए क्यों चुना? मध्य प्रदेश के कौन से प्रभावशाली व्यक्ति के भरोसे वह यहां उत्तर प्रदेश पुलिस के एनका’उंटर से बचने आया था?

 

BJP पर भी लगाया आरो’प

दिग्विजय सिंह ने कहा था कि विका’स दुबे उत्तर प्रदेश का सबसे खत’रनाक गैं’गस्टर है. उसपर 60 आ’पराधि’क मा’मले दर्ज हैं, जिनमें थाने के अंदर ह’त्या करना भी शामिल है. उन्होंने आरो’प लगाते हुए कहा था कि गैं’गस्टर को भाजपा नेताओं का राजनीतिक सं’रक्षण प्राप्त है. इस वजह से ही उसे जमा’नत भी मिल गई, लेकिन स’जा आज तक नहीं हुई.

पुलिस-प्रशासन से साठगां’ठ की कही बात

दिग्विजय सिंह ने आरो’प लगाया था कि वि’कास दुबे की पुलिस और प्रशासन के साथ साठगां’ठ है. इस वजह से ही वह अब तक बचा हुआ था. दिग्विजय सिंह ने श’क ज़ाहिर किया था कि उत्तर प्रदेश के कानपुर में इतना बड़ा पुलिस ह’त्याकां’ड करने के बाद भी वो बच निकलता है. उज्जैन में बिना ह’थियार के आता है. महाकाल के मंदिर में एक निजी सुरक्षा कंपनी का गार्ड उसे पक’ड़ता है. फिर गा’र्ड ही एक पुलिस के सिपाही को सौंप देता है. यह गि’रफ्तारी है या स’रेंडर.