वि’कास दुबे के एनका’उंटर पर प्रियंका गांधी ने दिया बड़ा बयान

विकास दुबे के अचा’नक से एनकाउंटर की खबर आने के बाद से ही इस पूरे घट’नाक्रम पर सवाल उठने लगे हैं. कई विपक्षी नेताओं ने कहा है कि इस एनकाउंटर की आ’ड़ में उन सभी लोगों को बचा लिया गया है, जो विकास दुबे की मदद कर रहे थे.

सवाल उठ रहे हैं कि इस पूरे म’सले में विकास दुबे को राजनीतिक शक्तियों से शह मिलने की बात हो रही थी, वो क्या अब सामने निकलकर आएगी? कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने भी ऐसे ही सवाल किए हैं. उन्होंने एक ट्वीट कर लिखा है कि अपरा’धी को संरक्षण देने वालों का अब क्या होगा?

प्रियंका गांधी ने एक ट्वीट में लिखा, ‘अपरा’धी का अं’त हो गया, अपरा’ध और उसको स’रंक्षण देने वाले लोगों का क्या?’

यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भी इस एनकाउंटर के पीछे बड़े राज को छि’पाने का आ’रोप लगाया है. उन्होंने इसे लेकर योगी सरकार पर हम’ला बोला है. उन्होंने एक ट्वीट कर कहा कि ‘हा’दसे में कार प’लटी नहीं है, राज़ खुलने से सरकार प’लटने से बचाई गई है.’

विकास दुबे पिछले शुक्रवार को कानपुर के बिकरु गांव में आठ पुलिसकर्मि’यों की ह’त्या के बाद जिस तरह एक हफ्ते तक पुलिस को च’कमा देकर तीन राज्यों में इधर-उधर फिरता रहा, उसपर सवाल उठाए जा रहे हैं.

यहां तक कि उस दिन छा’पेमारी करने पहुंचे पुलिस दल के लिए जैसी विकास और उसके गुं’डों की ओर से दिखी थी, इससे खुद पुलिस की भूमिका पर सवाल उठे हैं. सवाल हैं कि विकास दुबे आखिर कैसे कानपुर से बचते-बचाते दिल्ली-एनसीआर और फिर उज्जैन पहुंच गया, क्या उसे किसी राजनीतिक शक्ति का साथ मिला?

विकास दुबे के रुतबे और कानपुर में उसके इलाके में स्थानीय पुलिस पर उसके प्रभाव के चलते यह पूरा मा’मला पुलिस की भूमिका पर सवाल ख’ड़े कर रहा है. अब अचानक से हुए इस एनकाउं’टर से आशं’का है कि पता नहीं जो केस के पीछे की असली कहानी है, वो सामने आएगी या नहीं.