यूपी : सीएम योगी की कैबिनेट मंत्री का कोरोना से निधन, योगी का अयोध्या जाना हुआ कैंसिल

योगी आदित्यनाथ सरकार में प्राविधिक शिक्षा मंत्री कमल रानी वरुण का रविवार को नि’धन हो गया। वह कोरोना वायरस के सं’क्रमण के कारण लखनऊ के संजय गांधी पीजीआई में भ’र्ती थी।

नि’धन की पुष्टि एसजीपीजीआई के सीएमएस डॉक्टर अमित अग्रवाल ने की है। मंत्री कमल रानी वरुण के नि’धन की सूचना के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने आज का अपना अयोध्या दौरा स्थगति कर दिया है।

वैश्विक महामा’री कोरोना वायरस का प्र’कोप उत्तर प्रदेश में लगातार बना हुआ है। रविवार को कोरोना वायरस से प्राविधिक शिक्षा मंत्री कमलरानी का लखनऊ पीजीआइ में नि’धन हो गया। इसकी पुष्टि सीएमएस डॉक्टर अमित अग्रवाल ने पुष्टि की है। सीएमएस डॉ अमित अग्रवाल ने बताया कि उन्हें सीवियर कोविड-19 निमोनिया हो गया था।

इस वजह से वह एक्यूट रेस्पिरेट्री डिस्ट्रेस सिं’ड्रोम में चली गई थी। डॉक्टरों ने उन्हें बचाने का भ’रसक प्रयास किया, लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका। कोरोना के लिए निर्धारित रेमडेसिविर समेत अन्य  निर्धारित दवाएं उन्हें लगातार दी जा रही थी, लेकिन सुधार नहीं हो रहा था।

मंत्री कमलारानी को पहले से ही डायबिटीज, हाइप’रटेंश’न व थायराइड से जुड़ी समस्या थी। उनका ऑक्सीजन लेवल काफी कम हो गया था। हालांकि शुरुआत के 10 दिनों में उनकी त’बीयत स्थिर रही, लेकिन पिछले 3 दिनों से अचानक स्थिति ख’राब होने लगी। शनिवार की शाम करीब 6:00 बजे त’बीयत ज्यादा बिग’ड़ने के बाद उन्हें बड़े वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया। रविवार को सुबह 9:00 बजे उनका नि’धन हो गया।

बीते 18 जुलाई को शाम 5:24 बजे उन्हें एसजीपीजीआई में भ’र्ती कराया गया था। तब से वह लगातार ऑक्सीजन और छोटे वेंटीलेटर के सपोर्ट पर थी। बीते दिनों  प्राविधिक शिक्षा मंत्री कमल रानी वरुण की रिपोर्ट पॉजिटिव मिलने के बाद उन्हें संजय गांधी पीजी मेडिकल इंस्टीट्यूट ऑफ साइंसेस में आइसोलेट किया गया था। मंत्री जी की बेटी भी कोरोना पॉजिटिव थी। वह ठीक हो गयी।

18 जुलाई को भ’र्ती

कोरोना वायरस सं’दिग्ध होने पर 17 जुलाई को उनका सैंपल लिया गया था। 18 जुलाई को उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उन्हें लखनऊ के पीजीआइ अस्पताल में भ’र्ती कराया गया था।  वह कानपुर के घाटमपुर से विधायक हैं। लखनऊ के पीजीआइ अस्पताल में भ’र्ती कराया गया था।

प्रदेश सरकार में प्रावधिक शिक्षा मंत्री कमलरानी वरुण का रविवार सुबह लखनऊ पीजीआई में नि’धन हो गया। कोरोना सं’क्रमण की चपेट में आने पर उन्हें लखनऊ के अस्पताल में भ’र्ती कराया गया था, वह लेवल-थ्री की मरीज थीं। उनकी मौ’त की सूचना मिलते ही क्षेत्र में शो’क की ल’हर दौड़ गई है, वह घाटमपुर विधानसभा क्षेत्र से विधायक थीं। निजी सचिव अंकित दीक्षित ने सुबह करीब पौने 10 बजे पीजीआई लखनऊ में प्रावधिक शिक्षा मंत्री कमलरानी वरुण का नि’धन होने की जानकारी दी।