मंदिर के लिए जा’न देने का दावा करने वाली उमा भारती कोरोना से डरी, भूमि पूजन में आने से किया इंकार

उत्तर प्रदेश के अयोध्या में राम मंदिर भूमि पूजन के लिए तैयारियां जारी हैं. पांच अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी यहां पर भूमि पूजन करेंगे. लेकिन केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और अन्य भाजपा नेताओं के कोरो’ना के च’पेट में आने से चिंताएं बढ़ी हैं. भारतीय जनता पार्टी की नेता उमा भारती ने भी ट्वीट कर कहा है कि वो अयोध्या के भूमि पूजन कार्यक्रम में तो आएंगी, लेकिन मंदिर स्थल पर ना रहकर सरयू नदी के तट पर रहेंगी.

सोमवार सुबह उमा भारती ने कई ट्वीट किए, उन्होंने लिखा कि कल जब से मैंने अमित शाह जी और बीजेपी के अन्य नेताओं के कोरोना पॉजिटिव होने का सुना, तभी से अयोध्या में मंदिर के शिलान्यास में उपस्थित लोगों खासकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए चिं’तित हूं. इसीलिये मैंने रामजन्मभूमि न्यास के अधिकारियों को सूचना दी है कि शिलान्यास के कार्यक्रम के मुहूर्त पर मैं अयोध्या में सरयू के किनारे पर रहूंगी.

बीजेपी नेता ने आगे लिखा कि मैं भोपाल से आज रवाना होऊंगी. कल शाम अयोध्या पहुंचने तक मेरी किसी संक्रमित व्यक्ति से मुलाकात हो सकती हैं, ऐसी स्थिति में जहां नरेंद्र मोदी, सैकड़ों लोग उपस्थित होंगे मैं उस स्थान से दूर रहूंगी. ऐसे में नरेंद्र मोदी के चले जाने के बाद ही मैं रामलला के दर्शन करूंगी.

उमा भारती ने लिखा कि मैंने रामजन्मभूमि न्यास के अधिकारियों और पीएमओ को जानकारी दे दी है कि पीएम मोदी के शिलान्यास कार्यक्रम के वक्त उपस्थित समूह की सूची से मेरा नाम अलग कर दें.

गौरतलब है कि रविवार को ही केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के कोरोना वायरस से सं’क्रमित होने की खबर आई, उन्हें अस्पताल में भ’र्ती कराया गया है. उनके अलावा कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा, यूपी बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष, यूपी सरकार में एक मंत्री भी कोरो’ना वाय’रस से सं’क्रमित हुए हैं. जबकि यूपी सरकार में मंत्री कमला रानी का को’रोना के कारण नि’धन हो गया.

इससे कुछ दिन पहले ही राम जन्मभूमि परिसर में एक पुजारी के अलावा कुछ पु’लिसकर्मी भी कोरोना वा’यरस के च’पेट में आए थे. ऐसे में तभी से ही भूमि पूजन को लेकर चिंता’एं बढ़ रही थीं.