हा’थरस के’स : पहली बार किसी बीजेपी नेता ने उठाए योगी की कार्यशैली पर सवाल, दी ये सलाह

Hat’hr’as  C’ase में पहली बार BJP के किसी बड़े नेता ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की खिं’चाई की है। शुक्रवार (दो अक्टूबर, 2020) को पार्टी की सीनियर नेता उमा भारती ने इस बा’बत स’वाल दा’गे। कहा कि उत्तर प्रदेश पु’लिस की ‘‘सं’दि’ग्ध’’ कार्र’वाई के कारण भाजपा, राज्य सरकार और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की छवि को नु’कसान पहुंचा है। उन्होंने इसके साथ ही सीएम से अनुरोध किया कि वह मी’डि’याक’र्मियों और नेताओं को पी’ड़ि’ता के परिवार से मिलने दें।

ये बातें उमा ने हिंदी में कुछ ट्वीट्स के जरिए कहीं। उन्होंने लिखा, ‘‘उत्तर प्रदेश पु’लिस की सं’दि’ग्ध कार्र’वाई के कारण भाजपा, उत्तर प्रदेश सरकार और राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की छवि को नु’कसान पहुंचा है।’’ भारती ने कहा कि पूरे हाथ’रस प्रकरण पर करीबी नजर रखे हुए हैं। साथ ही उन्होंने योगी आदित्यनाथ से अनुरोध किया कि वह मी’डिया’क’र्मियों को एवं अन्य राजनीतिक दलों के लोगों को पी’ड़ि’त परिवार से मिलने दें।

यूपी के मुख्यमंत्री को साफ-सुथरी छवि वाला शासक बताते हुए भारती ने कहा, ‘‘मैं आपसे वरिष्ठ एवं आपकी बड़ी बहन हूं।’’ हालांकि उन्होंने यह भी जताया कि पु’लिस द्वारा गांव और पी’ड़ि’त परिवार की घे’राबं’दी करने से वह बोलने के लिए मज’बूर हुई हैं।

उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘मैंने हाथ’रस की घ’टना के बारे में देखा। पहले तो मुझे लगा कि मैं ना बोलूँ क्योंकि आप इस संबंध में ठीक ही कार्र’वाई कर रहे होंगे। किन्तु जिस प्रकार से पु’लिस ने गांव की एवं पी’ड़ि’त परिवार की घे’राबं’दी की है, उसके कितने भी त’र्क हों, लेकिन इससे विभिन्न आ’शं’कायें जन्मती हैं।’’ COV’ID-19 से सं’क्रमित पाए जाने के बाद उमा भारती को ऋषिकेश के एम्स में भ’र्ती हैं। भारती ने कहा कि अगर उनका स्वास्थ्य ठीक होता तो वह खुद भी पी’ड़ि’ता के परिवार से मिलने हार’थस जातीं। उन्होंने कहा कि अस्प’ताल से छुट्टी मिलने के बाद वह निश्चित ही परिवार से मिलने जाएंगी।

‘SIT जां’च तक गांव में एं’ट्री नहीं’:

हाथ’रस के अतिरिक्त पु’लिस अधीक्षक प्रकाश कुमार ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘मौजूदा स्थिति को देखते हुए, राजनीतिक प्रति’निधियों या मी’डिया कर्मियों को गांव में प्रवेश करने की अनु’मति तब तक नहीं दी जाएगी जब तक ए’स’आ’ईटी अपनी जां’च पूरी नहीं कर लेती।’’

अधिकारियों के अनुसार मा’मले पर देशव्यापी आ’क्रो’श के बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को तीन सदस्यीय ए’सआ’ईटी का ग’ठन किया था, जिसे 14 अक्टूबर तक अपनी जां’च रि’पोर्ट सौंपनी है। हाथ’रस प्रशा’सन ने बृहस्पतिवार को धारा 144 ला’गू कर दी थी।

‘मो’हरों के निलं’बन से क्या होगा?

योगी इस्ती’फा दें- प्रियंकाः कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा ने हाथ’रस के क’थित सा’मूहि’क ब’ला’त्का’र के मा’मले में कुछ पु’लिस अधिकारियों के नि’लंबन के बाद शुक्रवार को कहा कि ‘मोह’रों’ के नि’लंबन से क्या होगा, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को इस्ती’फा देना चाहिए।

उन्होंने यह भी कहा कि हाथ’रस के जिला अधिकारी और पु’लिस अधीक्षक के फोन रिकॉर्ड सार्वजनिक किया जाना चाहिए ताकि पता चल सके कि किसके आदेश पर पी’ड़ि’ता एवं उसके परिवार को ‘क’ष्ट दिया गया।