मध्य प्रदेश: मुस्लिम कबाड़ी को पकड़ जबरदस्ती लगवाये ‘जय श्री राम’ के नारे, पूछा: ‘हमारे गांव में कैसे कमा लेता है…’

पिछले कुछ दिनों में ऐसे कई मामले सामने आए हैं जहां मुस्लिम दुकानदारों के साथ दुर्व्य’वहार की शिकायत की जा रही है। इंदौर में चूड़ी वाले की पि’टाई और मथुरा में डोसे वाले की दुकान से बैनर उतरवाने के बाद नया वीडियो मध्य प्रदेश के उज्जैन से सामने आया है।

यहां कुछ लोगों ने एक मुस्लिम कबाड़ी व्यापारी के साथ दुर्व्यवहार करते हुए उसके सामान को फेंक दिया। इस घटना का वीडियो अब सोशल मीडया पर तेजी से वायरल हो रहा है। प्राप्त जानकारी के अनुसार उज्जैन जिले के महिदपुर के सेकली गांव क्षेत्र की घटना है।

वीडियो के अनुसार मुस्लिम कबाड़ी वाले शख्स को कुछ युवाओं ने पकड़ लिया। युवकों ने मुस्लिम शख्स से पूछा कि तुम हमारे गांव से पैसे कमाकर कैसे ले जा सकते हो। इसके बाद वह युवा शख्स पर जय श्री राम का नारा लगाने का दबाव बनाने लगे। कई प्रयासों के बाद जब कबाड़ी वाले ने जय श्रीराम बोला तो उसको जाने दिया। वीडिय़ो के वा’यरल होने के बाद उज्जैन के एसएसपी ने बताया कि घटना उज्जैन के सेकली गांव की है। कबाड़ी व्यापारी की पहचान अब्दुल के तौर पर की गई है जोकि महिदपुर का ही रहने वाला है।

इस मामले में पुलिस ने दो लोगों के खिलाफ धारा 153 ए, 505, 323, 294, 34 के तहत केस दर्ज किया है। इस घटना पर राजनी’तिक घमासान भी शुरू हो गया है।

विपक्ष का वार:

कांग्रेस नेता औऱ मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे दिग्विजय सिंह ने इस मामले को लेकर शिवराज सिंह की सरकार पर निशा’ना साधते हुए कहा कि अब तो हद्द होती जा रही है। उन्होंने सीएम के साथ साथ डीजीपी साहब से सवाल पूछा कि क्या यह अप’राधिक कृ’त्य नहीं है? क्या उज्जैन पुलिस इन दिग्भ्रमित युवकों के ख़िला’फ़ क़ानूनी का’र्रवाई करेगी?

सरकार का पक्ष:

लगातार एक के बाद एक घटनाओं के सामने आने पर बीजेपी ने इसके लिए कांग्रेस पर शक जताया है। शिवराज सरकार में मंत्री वैशव कैलाश सारा ने कहा हमारी सरकार हर घटना का संज्ञान लेकर का’र्रवाई कर रही है। जो वीडियो आए उन पर का’र्रवाई की गई। मुझे इन वीडियो को लेकर संदेह है कि कहीं कांग्रेस इन सबके माध्यम से वर्ग संघर्ष तो नहीं कराना चाहती है। उन्होंने कहा कि जांच का यह भी विषय है कि कहीं यह घटनाएं पूर्वनियोजित तो नहीं हैं।

वहीं पूर्व मुख्यमंत्री कमलमाथ ने इस घटना को लेकर राज्य की शिवराज सरकार पर उठाते हुए कहा कि मध्यप्रदेश के इंदौर, देवास के बाद अब उज्जैन के महिदपुर की घटना? ये कौन लोग है, जो निरंतर ऐसी घटनाओं को अंजाम दे रहे है, हमारी गंगा-जमुनी की ,भाईचारे की संस्कृति को कुछ लोग बिगाड़ने का काम कर रहे है ?

उन्होंने कहा कि ऐसा लग रहा है कि किसी ख़ास एजेंडे के तहत यह सब किया जा रहा है? सरकार मूकदर्शक बन कर सब देख रही है? पूरे प्रदेश में अराजकता का माहौल, क़ानून का मखौल उड़ाया जा रहा है ?

कमलनाथ ने कहा कि मै सरकार से मांग करता हूं कि ऐसे तत्वों पर सरकार कड़ी से कड़ी का’र्रवाई करे, किसी भी मजहब का व्यक्ति हो, यदि वो क़ानून का उल्लंघन करे। हमारे शांति के टापू प्रदेश की फ़िज़ा ख़राब करने का काम करे तो उस पर सख़्त से सख़्त का’र्यवाही होनी चाहिए, उन्होंने कहा कि ऐसी घटनाओं पर रोक के लिये सरकार सभी आवश्यक कदम उठाए।

रीवा में एक और मामला आया सामने:

पूर्व मुख्यमंत्री ने रीवा की एक घटना का वीडियो भी साझा किया है, यह वीडियो रीवा का बताया जा रहा है, यहां एक शख्स की बुरी तरह से पिटाई की जा रही है। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में इंदौर, सतना, देवास, नीमच, उज्जैन के बाद अब रीवा में घटित बर्बरता व अमानवी’यता की घटना। एक युवक की चोरी की शंका पर कितनी बर्ब’रता से पि’टाई की जा रही है। उन्होंने पूछा कि आखिर हमारा देश कहां जा रहा है।

इससे पहले इंदौर में भी कुछ इसी तरह का मामला सामने आया था। जब एक चूड़ी वाले की पि’टाई की जा रही थी। बात में जांच में सामने आया था कि शख्स नाम बदलकर हिंदू इलाकों में काम करता था।