डिप्टी CM ना बन पाने की अटकलों के बीच सुशील का छलका दर्द-कही ये बात

बिहार में नीतीश कुमार की अगुवाई वाली एनडीए सरकार बनने की कवायद चल रही है, लेकिन भारतीय जनता पार्टी के नेता सुशील कुमार मोदी के फिर से उपमुख्यमंत्री बनने की संभावना पर पानी फिर सकता है. सुशील मोदी ने ट्वीट कर तारकिशोरजी को भाजपा विधानमंडल का नेता सर्वसम्मति से चुने जाने पर कोटिश बधाई दी है. नीतीश कुमार कल शाम शपथ लेने जा रहे हैं.

दिवाली के एक दिन बाद पटना में एनडीए और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) में काफी गहमागहमी रही. बीजेपी में नवनिर्वाचित विधायकों की बैठक हुई. बैठक में तारकिशोर प्रसाद को बीजेपी विधायक दल का नेता चुना गया है और उन्हें एनडीए का उपनेता बनाया गया है. जबकि रेणु देवी बीजेपी विधायक दल की उपनेता चुनी गई हैं.

बैठक के बाद बीजेपी नेता सुशील मोदी ने ट्वीट कर कहा कि तारकिशोरजी को भाजपा विधानमंडल का नेता सर्वसम्मति से चुने जाने पर कोटिशः बधाई !

सुशील मोदी ने आज कई ट्वीट किए. अपने अगले ट्वीट में उन्होंने कहा, बीजेपी एवं संघ परिवार ने मुझे 40 वर्षों के राजनीतिक जीवन में इतना दिया कि शायद किसी दूसरे को नहीं मिला होगा. आगे भी जो जिम्मेवारी मिलेगी उसका निर्वहन करूंगा. कार्यकर्ता का पद तो कोई छीन नहीं सकता.

अपने एक अन्य ट्वीट में सुशील मोदी ने कहा, नोनिया समाज से आने वाली बेतिया से चौथी बार विधायक श्रीमति रेणु देवी के भाजपा विधान मंडल दल के उप नेता सर्वसम्मति से चुने जाने पर हार्दिक बधाई!

इस बीच पटना में आज रविवार को एनडीए के नवनिर्वाचित विधायकों की बैठक में नीतीश कुमार को फिर से एनडीए विधायक दल का नेता चुन लिया गया है. इस तरह से नीतीश कुमार एक बार फिर से बिहार के मुख्यमंत्री बनने जा रहे हैं. नीतीश कल सोमवार शाम 4.30 बजे बिहार के अगले मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे. राज्यपाल फागू चौहान से मिलने के बाद शपथ ग्रहण समारोह के लिए सोमवार शाम 4.30 बजे का वक्त तय किया गया है.

एनडीए की बैठक के बाद यह बात सामने आई कि नीतीश कुमार सातवीं बार मुख्यमंत्री बनने से मना कर रहे थे. वो चाहते थे कि इस बार बीजेपी अपना मुख्यमंत्री कैंडिडेट खड़ा करे क्योंकि गठबंधन में बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर उभरी है. लेकिन बीजेपी विधायकों और अन्य वरिष्ठ नेताओं के समझाने के बाद नीतीश मुख्यमंत्री बनने को तैयार हो गए हैं.