सुशांत सिंह ने आ’खरी बार अपने पिता से कही थी ये बात

सुशांत सिंह राजपूत ने रविवार को अपने घर में आ’त्मह’त्या कर ली। सुशांत ने अंतिम वक्त में अपनी बहन से फोन पर बात की थी। सुशांत ने अपने एक दोस्त को भी फोन लगाया था। लेकिन दोस्त ने सुशांत का फोन नहीं उठाया हालांकि सुशांत के फ्रेंड ने दोबारा फोन किया था पर तब तक शायद बहुत देर हो चुकी थी।

सुशांत ने आखिरी बार अपने पिता से भी बात की थी। सुशांत की इच्छा थी कि वह अपने पिता को अपने साथ पहाड़ों पर ले जाएंगे। लेकिन उससे पहले ही सुशांत ने दुनिया को अलविदा कह दिया।

रिपोर्ट्स के मुताबिक सुशांत सिंह राजपूत ने पटना, अपने घर फोन किया था। फोन पर सुशांत ने अपने पिता केके सिंह से कहा था कि पापा मैं ठीक हूं, आप मेरी चिं’ता मत कीजिए। कोरोना है आप सब ठीक से रहिएगा। मैं जल्दी आने की कोशिश करूंगा। आप अपना ध्यान रखिएगा। आराम से रहो।’

सुशांत ने सुसाइड से एक दिन पहले अपने पिता को फोन किया था। उसके बाद रविवार को सुशांत के पिता को मुंबई से फोन आय़ा। फोन पर सुशांत के पिता को उनकी मौ’त की खबर दी गई, जिसके बाद वह बे’सुध हो गए औऱ फर्श पर गि’र गए।

सुशांत का घर पटना के राजीव नगर में है। म’रने से पहले सुशांत ने शनिवार शाम को अपने पिता से बात की थी। जिसमें उन्होंने कहा था कि ‘पापा आप अपना खयाल रखिएगा।’ वहीं सुशांत ने अपने पापा की केयर टेकर लक्ष्मी देवी को भी फोन पर कहा था कि कोरोना में पापा का खयाल रखना।

इसके बाद केके सिंह को रविवार सुबह 11 बजे करीब ये खबर मिली। खबरों के मुताबिक सुशांत के पिता उस वक्त डाइनिंग टेबल पर बैठे नाश्ता करने ही लगे थे, कि तभी उनका फोन बजा और जवान बेटे की मौत की खबर उन्हें मिली। इसके बाद वह इस सदमें को बर्दा’श्त नहीं कर पाए और फर्श पर गि’र गए। तभी केयरटेकर लक्ष्मी दौड़ कर उनके पास पहुंचीं। उन्होंने अपने पड़ोसियों को बुलाया औऱ पड़ोसियों की मदद से उन्होंने केके सिंह को फर्श से उठाया। केके सिंह को बेटी रूबी का फोन आया था।