अयोध्या: मस्जिद की जगह पर अस्पताल बनाने की अफ’वाहों को लेकर सुन्नी वक्फ बोर्ड ने जारी किया ये बयान

सुन्नी वक्फ बोर्ड ने अयोध्या में बा’बरी अस्पताल बनाने की ख़बरों का खं’डन किया है. बता दें कि सोशल मीडिया पर सुन्नी वक्फ बोर्ड को मिली जमीन पर बा’बरी अस्पताल बनाने की ख़बर वा’यर’ल हो रही थी. ख़बर में डॉ. कफील खान को अस्पताल का निदेशक बनाए जाने की बात कही गई थी. अब सुन्नी वक्फ बोर्ड ने इस बात का खं’डन किया है.

वक्फ बोर्ड का कहना है कि सोशल मीडिया पर वाय’रल हो रही जानकारी गल’त और भ्रा’मक है. बोर्ड के मुताबिक जमीन पर बा’बरी अस्पताल बनाने की बात फ’र्जी है. बता दें कि वक्फ बोर्ड को अयोध्या के धन्नीपुर गांव में पांच एकड़ जमीन दी गई है. शनिवार को बोर्ड की ओर से गठित इंडो इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन ट्रस्ट के सचिव के हवा’ले से सोशल मीडिया पर जानकारी वाय’रल हो रही थी.

जानकारी में ट्रस्ट के महासचिव अतहर हुसैन ने पांच एकड़ में से 1400 वर्ग मीटर पर वैसी ही मस्जिद और बाकी जगह में एक बड़ा अस्पताल बनवाने की बात कही है. जिसके बाद सो’शल मीडिया पर इस जानकारी को और तो’ड़ मरो’ड़ कर पेश किया गया. सोशल मीडिया पर इस अस्पताल का नाम बाबर के नाम पर रखने और डॉ. कफील खान को इसका डायरेक्टर बनाने की बात कही. जिसका कि बोर्ड ने खं’डन किया है.गौरतलब है कि हाल ही में मशहूर शायर मुनव्वर राणा ने मस्जिद के लिए मिली जमीन पर अस्पताल बनाने की मांग की थी.

‘यूपी सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड’ के चीफ एक्जीक्यूटिव अधिकारी सैयद मोहम्मद शोएब से बात की. उन्होंने कहा कि वाय’रल पोस्ट में ‘बाबरी अस्पताल’ और ‘कफील खान’ के बारे में जो दा’वा किया जा रहा है, वह पूरी तरह नि’राधा’र और ‘फ’र्जी’ है. उन्होंने कहा, ‘जिन लोगों ने ऐसी फ’र्जी पो’स्ट लिखी और वाय’रल की है, हम उनके खिला’फ कान’नूी का’र्रवा’ई करने जा रहे हैं.’

सिर्फ प्रस्ताव हैं, अंतिम फैसला लेना अभी बाकी

सुन्नी वक्फ बोर्ड के सीईओ सैयद मोहम्मद शोएब के मुताबिक, बोर्ड ने निर्माण के बारे में अभी तक अंतिम निर्णय नहीं लिया है. उन्होंने कहा, ‘अस्पताल, लाइब्रेरी, रिसर्च सेंटर वगैरह के बारे में लोग जो बातें कर रहे हैं, वे सभी सिर्फ प्रस्ताव हैं, अंतिम फैसला लेना अभी बाकी है.’

हाल ही में यूपी सुन्नी वक्फ बोर्ड ने एक 15 सदस्यीय ट्रस्ट बनाया है, जिसे इंडो-इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन ट्रस्ट का नाम दिया गया है.ट्रस्ट के सदस्य इन प्रस्तावों पर चर्चा करने के लिए जल्द ही बैठक करेंगे और सुप्रीम कोर्ट द्वारा दी गई 5 एकड़ जमीन पर निर्माण के बारे में अंतिम फैसला करेंगे.रिवर्स इमेज सर्च की मदद से हमने पाया कि वाय’रल पो’स्ट में इस्तेमाल अस्पताल की तस्वीर, जिस पर ‘बा’बरी हॉस्पिटल’ लिखा है, उसे Linkedin पेज से उठाया गया है और फोटो’शॉप की मदद से उसमें छे’ड़छा’ड़ की गई है.