सुब्रमण्यम स्वामी ने अब कमला हैरिस पर साधा निशाना – बताया हिं’दू विरो’धी और लोगो को दी ये नसीहत

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के वरिष्ठ नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को नसीहत दी है। स्वामी ने पीएम मोदी को आत्मनिर्भर रहने को कहा है और अमेरिका की नई बाइडेन-हैरिस सरकार की खुशामदी न करने की सलाह दी है। स्वामी ने दा’वा किया है कि अमेरिकी उपराष्ट्रपति बनने जा रहीं कमला है’रिस ‘हिं’दू राष्ट्र’वाद’ विरो’धी हैं।

बीजेपी राज्यसभा सांसद ने सोमवार को ट्वीट कर लिखा “मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक नई बाइडेन-हैरिस सरकार को भारत आमंत्रित किया जाएगा, केंद्र सरकार को उनकी खुशामदी नहीं करना चाहिए। भारत के मामलों में बाइडे हैरिस के माध्यम से आएंगे और ह वैचारिक रूप से “हिं’दू राष्ट्रवाद” के खिला’फ हैं। जिसका मतलब बीजेपी है। ऐसे में मोदी को आत्मनिर्भर रहना चाहिए।”

बीजेपी नेता के इस ट्वीट पर यूजर ने भी अपनी प्रतिकृया दी है। एक यूजर ने लिखा “मुझे नहीं लगता कि वह हिं’दू ध’र्म के खिला’फ है! वह लिबरल है! हर तरह से भारत एक ऐसी भूमि है जहाँ धर्म की स्वतंत्रता है। मुझे नहीं लगता कि हिं’दू ध’र्म को सबसे महत्वपूर्ण धर्म माना जाना चाहिए! मैं कहता हूं कि हम जिसकी भी पूजा करते हैं, हम सब एक हैं।”

एक अन्य यूजर ने लिखा “बीजेपी और उसके ब्रे’नवॉ’श समर्थकों को छो’ड़कर कोई भी हिं’दू राष्ट्र’वाद का समर्थन नहीं करता है, जो कि 133 करोड़ आबादी में मात्र 22 करोड़ हैं।” एक ने लिखा ” मोदीजी को आत्मनिर्भर के साथ साथ अपने आत्मसम्मान का भी ध्यान रखना चाहिए। अमेरिका को भी भारत की उतनी जरूरत है जितनी भारत को अमेरिका की।”

इससे पहले स्वामी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ट्वीट को लेकर कहा था कि यह अच्छा होगा कि पीएम मोदी अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को ट्वीट कर उन्हें भारत का अच्छा दोस्त होने के लिए धन्यवाद देते। इसके साथ ही गणतंत्र दिवस के मौके पर उन्हें परेड के साथ-साथ बीटिंग द रिट्रीट में विशेष मेहमान के रूप में भारत आने का न्योता दें।

सुब्रमण्यम स्वामी ने यह भी कहा थे कि मैंने भारतीय जनता पार्टी की सरकार को संवैधानिक रास्ता दिखाया है। मैं एक घोड़े के लिए पानी तो ला सकता हूं लेकिन उसे पिला नहीं सकता।