सिंधिया और आरएसएस का नाम लेकर राहुल गांधी ने बेबाक कह दी ये बड़ी बात

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने शुक्रवार को कहा कि जो लोग हकीकत और भारतीय जनता पार्टी (BJP) का सामना नहीं कर सकते वो पार्टी छोड़ सकते हैं और निडर नेताओं को कांग्रेस में लाना चाहिए.उन्होंने कांग्रेस के सोशल मीडिया विभाग के पदाधिकारियों के साथ डिजिटल कार्यक्रम में ज्योतिरादित्य सिंधिया का उदाहरण दिया और कहा कि जो लोग डरे हुए थे वो कांग्रेस से बाहर चले गए.

राहुल गांधी ने कहा, ‘‘बहुत सारे लोग जो डरे हुए नहीं है, लेकिन कांग्रेस से बाहर हैं. ऐसे सभी लोग हमारे हैं. उन्हें अंदर लाइए और जो हमारी पार्टी में हैं और डरे हुए हैं उन्हें बाहर करना चाहिए.”

कांग्रेस के पूर्व अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने इस बात पर जोर दिया, ‘‘ये राष्‍ट्रीय स्‍वयंसेवक संघ (RSS) के लोग हैं और उन्हें बाहर जाना चाहिए, उन्हें आनंद लेने दीजिए. हम उन्हें नहीं चाहते हैं, उनकी जरूरत नहीं है. हमें निडर लोगों की जरूरत है. यही हमारी विचारधारा है. यही आप लोगों को मेरा बुनियादी संदेश है.” सिंधिया का उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा, ‘‘उन्हें अपना घर बचाना था, वह डर गए और आरएसएस के साथ चले गए.”

राहुल गांधी की टिप्पणी इस मायने में महत्वपूर्ण है कि पिछले कुछ महीनों में कांग्रेस के कई नेता भाजपा में शामिल हो गए. इनमें सिंधिया और जितिन प्रसाद प्रमुख हैं.यह पहली बार है कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने पार्टी के सोशल मीडिया विभाग के 3,500 कार्यकर्ताओं को ‘जूम’ के माध्यम से संबोधित किया.कांग्रेस सूत्रों का कहना है कि राहुल गांधी ने इस दौरान करीब 10 युवा कार्यकर्ताओं के साथ संवाद किया.

कमलनाथ बन सकते हैं कार्यकारी अध्यक्ष:

इधर मीडिया में इस बात को लेकर चर्चा है कि कांग्रेस में गांधी परिवार से बाहर का कोई कार्यकारी अध्यक्ष बन सकता है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कमलनाथ ने गुरुवार को सोनिया गांधी से मुलाकात भी की थी। सूत्रों के अनुसार सोनिया के आवास 10 जनपथ पर हुई इस मुलाकात के दौरान कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा भी मौजूद थीं।

सूत्रों का कहना है कि इस मुलाकात के दौरान कांग्रेस और मौजूदा राजनीति से जुड़े घटनाक्रमों को लेकर चर्चा हुई है। बताते चलें कि दो दिन पहले ही प्रशांत किशोर ने भी कांग्रेस नेताओं के साथ बैठक की थी। जिसके बाद से चर्चाओं का बाजार गर्म है।