कोरो’ना से जं’ग जीत लौटे दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन, बताया कैसे बची उनकी जा’न

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कोरो’ना वा’यरस (Coronavirus) जैसी खतरनाक बीमारी से ठीक होने के बाद दिल्ली (Delhi) के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन (Satyendar Jain) ने पहली बार ट्वीट किया है। उन्होंने कहा कि प्लाज्मा थेरेपी (Plasma Therapy) ने कोरोना से मेरी जा’न बचाई है और मैं मेडिकल प्रोटोकॉल के हिसाब से जल्द से जल्द प्लाज्मा थेरे’पी दान करने की शपथ लेता हूं।

प्लाज्मा थेरेपी ने बचाई मेरी जा’न

सत्येंद्र जैन ने ट्वीट कर कहा, सबकी शुभकामनाओं के साथ मैं अब घर पर रिकवर कर रहा हूं। सीएम अरविंद केजरीवाल का प्लाज्मा बैंक की स्थापना का ऐलान एक ऐतिहासिक कदम है। प्लाज्मा थेरेपी ने कोरो’ना से मेरी जा’न बचाई है और मैं मेडिकल प्रोटोकॉल के हिसाब से जल्द से जल्द प्लाज्मा दान करने की शपथ लेता हूं।

गौरतलब है कि कोरोना संक्र’मण से जूझ रहे स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन की हालत में प्लाज्मा थेरेपी के बाद काफी सुधार आया था। उनका बुखार कम हुआ था और उनके ऑक्सीजन लेवल में सुधार आया था। जिसके बाद 26 जून को जैन की कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद उन्हें उसी दिन डिस्चार्ज कर दिया गया था। फिलहाल वह घर पर हैं और रिकवर हो रहे हैं।

20 जून को दी गई प्लाज्मा थेरेपी

सूत्रों ने बताया कि सत्येंद्र जैन को साकेत के मैक्स अस्पताल में भ’र्ती कराया गया है। जिसके बाद 20 जून को उन्हें प्लाज्मा थेरेपी दी गई थी जिसके बाद उनकी सेहत में काफी सुधार आया है। ऐसा माना जा रहा है कि प्लाजमा थेरेपी का इस्तेमाल करना उनकी सेहत के लिए काफी फायदेमंद साबित हुआ। वहीं एक अतिरिक्त टीम में राजीव गांधी सुपर स्पेशिएलिटी अस्पताल (आरजीएसएसएच), मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज और अन्य प्रमुख निजी अस्पताल के डॉक्टर शामिल हैं।

केंद्र सरकार ने प्लाज्मा थेरेपी की इजाजत

बता दें कि सीएम ने सोमवार को कहा, ‘यह देखने में आया है कि अगर प्लाज्मा दे दिया जाए तो ऑक्सीजन लेवल बढ़ जाता है और रेस्पिरेशन लेवल गिर जाता है। 29 मरीजों को हमने प्लाज्मा दिया जिसके अच्छे नतीजे आए हमने रिपोर्ट को केंद्र सरकार को सौंपा और उसके आधार पर केंद्र सरकार ने दिल्ली सरकार और प्राइवेट अस्पतालों में प्लाज्मा थेरेपी की इजाजत दी है। अब प्लाज्मा थेरेपी की तो इजाजत मिल गई लेकिन प्लाज्मा कहां से आएगा? प्लाज्मा केवल वही लोग दे सकते हैं जो कोरो’ना ग्रस्त हुए और अब ठीक हो गए हैं। इस समय लोग प्लाज्मा लेने के लिए दर-दर की ठो’करें खा रहे हैं।’

प्लाज्मा बैंक बनाएगी दिल्ली सरकार

उन्होंने कहा, ‘हमारा मकसद है कि जो अभी कोशिशें चल रही हैं उसको मजबूत किया जाए। दिल्ली सरकार ने तय किया है कि हम दिल्ली में प्लाज्मा बैंक बनाएंगे। यह पूरे देश में शायद पहला प्लाज्मा बैंक होगा। इस प्लाज्मा बैंक से सभी को प्लाज्मा मिलेगा चाहे वह सरकारी अस्पताल में हो या प्राइवेट अस्पताल में। पिछले दो-तीन दिन में इसकी औपचारिकताएं पूरी कर ली गई हैं डॉक्टर की सिफारिश जरूरी होगी प्लाज्मा लेने के लिए। डॉक्टर आईएलबीएस अस्पताल को अप्रोच करेंगे और अस्पताल उनको प्लाज्मा दे देगा। ILBS हॉस्पिटल में बनाया जाएगा प्लाज्मा बैंक। लोग अभी भी कर रहे हैं लेकिन इसके लिए कोई व्यवस्था नहीं है इसलिए अब व्यवस्था बना दी जाएगी।’

LNJP में 35 लोगों को दिया प्लाज्मा

सीएम ने आगे कहा, ‘जो लोग भी कोरोना से ठीक हुए हैं उनसे प्रार्थना कि आप प्लाज्मा डोनेट करें। यही सच्ची भगवान की भक्ति है। जो लोग ठीक हो गए हैं उनको सामने आकर प्लाज्मा डोनेट करना होगा यह सबसे जरूरी है। अगले कुछ दिनों में हम लोग नंबर जारी कर देंगे जो लोग भी प्लाज्मा डोनेट करना चाहते हैं वह उस पर फोन करके संपर्क करें सारा इंतजाम हो जाएगा। लोकनायक अस्पताल में पिछले दिनों 35 लोगों को दिया प्लाज्मा, 34 बच गए। एक प्राइवेट अस्पताल में 49 प्लाज्मा दिए गए 46 लोग बच गए।’

उन्होंने मीडिया से अपील करते हुए कहा, ‘आप लोग भी कैंपेन चला कर ज्यादा से ज्यादा लोगों को प्रेरित करें कि वह प्लाज्मा डोनेट करें और लोगों की जा’न बचाई। जो मरीज अब ठीक हो रहे हैं उनको भी मनाया जाएगा और प्रेरित किया जाएगा कि वह प्लाज्मा डोनेट करें। जितने भी एंटीबॉडी टेस्ट हो रहे हैं उनसे भी कहा जाएगा। 52,000 लोग ठीक हो चुके हैं।’

17 जून को पाए गए कोरोना संक्रमित

स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन के बारे में बात करते हुए आरजीएसएसएच अस्पताल के डॉक्टर ने बताया कि गुरुवार को मंत्री को निमोनिया हुआ था और उनका ऑक्सीजन का स्तर भी घट गया था। जिसके बाद अस्प्ताल के अधिकारियों को उन्हें आईसीयू में भ’र्ती कराना पड़ा। वह 17 जून को कोरो’ना वाय’रस से संक्र’मित पाए गए थे।