पश्चिम बंगाल चु’नाव: भाजपा ने दिहाड़ी मजदूर की पत्नी को इस सीट से बनाया उम्मीदवार

पश्चिम बंगाल में 27 मार्च से आठ चरणों में विधानसभा चु’नाव होने वाले हैं। राज्य में चु’नाव जीतने के लिए सभी पार्टियां जनता के बीच अपनी छा’प छो’ड़ने का एक भी मौका जाने नहीं दे रहीं। ऐसा ही कुछ राज्य की सत्ता में काबिज होने की इच्छा रखने वाली भारतीय जनता पार्टी भी कर रही है।

दरअसल, भाजपा ने राज्य की बांकुरा स्थित सल्तोरा सीट से एक दिहाड़ी मजदूर की पत्नी को टिकट दे दिया है। माना जा रहा है कि ऐसा करने के पीछे भाजपा का उद्देश्य है कि लोगों में यह संदेश जाए कि आम लोग भी अपनी लगन और ईमानदारी से एक नेता बन सकते हैं।

भाजपा उम्मीदवार बनकर हा’ल ही में अपना नामांकन दाखिल करने वाली 30 वर्षीय चंदना बौरी ने जानकारी दी है कि तीन बकरी, तीन गाय, एक झोपड़ी, बैंक में जमा नकद मिलाकर उनके पास कुल 31,985 रुपये की संपत्ति है।

वहीं, चंदना के पति सरबन एक राजमिस्त्री हैं। उन्हें एक दिन के काम के 400 रुपये मिलते हैं। चंदना भी अपने पति के काम में हाथ बं’टाती हैं। दोनों मनरेगा कार्ड धा’रक हैं और उनके तीन बच्चे भी हैं।  बता दें चं’दना के घर में शौ’चालय नहीं है। इसके अलावा पीने के पानी के लिए नल की व्यवस्था भी नहीं है। ऐसे में उन्हें बाहर जाकर पानी लाना प’ड़ता है।

चंदना ने कहा, ‘हमें शौच के लिए पास के मैदान तक जाना होता था. पिछले साल हमें 60,000 रुपये की प्रधानमंत्री आवास योजना की पहली किस्त मिली और दो पक्के कमरे बनाए गए।’

वहीं, अपनी उम्मीदवारी पर बात करते हुए उन्होंने कहा, ‘मुझे स्थानीय लोगों से आठ मार्च को अपनी उम्मीदवारी के बारे में पता चला। मैं एक गरीब परिवार से आती हूं। मुझे उम्मीदवार बनाकर भाजपा ने दिखाया है कि एक नेता बनने के लिए किसी की आर्थिक स्थिति मजबू’त हो यह जरूरी नहीं।’

इसके अलावा सत्तारूढ़ पार्टी के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा, ‘तृणमूल भ्र’ष्ट है। टीएमसी ने कोई विकास कार्य नहीं किया है, जो भी पैसा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कल्याणकारी योजनाओं के लिए भेजा है, उसे जेब में रख लेते हैं।

शौचालय से लेकर घर की योजनाओं तक के लिए लोगों को तृणमूल के लोगों को पैसा देना प’ड़ता है।’ गौरतलब है कि चंदना जिले में सीनियर भाजपा सदस्य के रूप में जानी जाती हैं। वह गंगाजलघाटी ब्लॉक के केलई गांव में रोजाना सुबह आठ बजे कमल के प्रिंट वाली भगवा रंग की साड़ी पहनकर एक मेटाडोर वाहन में चु’नाव प्र’चार के लिए निकलती है।

बता दें, अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित निर्वाचन क्षेत्र सल्तोरा को तृणमूल के स्वपन बारुई ने पिछले दो बार के चु’नाव के दौरान 10,000 से अधिक मतों के अं’तर से जीता था। वहीं, इस बार पार्टी ने नए उम्मीदवार संतोष कुमार मंडल को मैदान में उतारा है।