LIVE: गहलोत द्वारा ‘निकम्मा’ कहे जाने वाली बात पर पायलट ने दी ये प्रतिक्रिया

ब’गावती ते’वर दिखाने वाले सचिन पायलट अब कांग्रेस में वापस आ गए हैं. कांग्रेस में वापसी के बाद सचिन पायलट ने मंगलवार को बात की. सचिन पायलट ने कहा कि दिल्ली में आकर हमारे साथियों ने मु’द्दों को उठाया था, पार्टी ने हमारी बात को सुना है. अ’ब पार्टी की ओर से क्या पद और जिम्मेदारी दी जाएगी, वो पार्टी पर निर्भर है. पार्टी ने सभी मु’द्दों का हल निकालने की बात कही है.

सचिन ने कहा कि मैंने डिप्टी सीएम के रूप में काम किया, राजनीति को व्यक्तिगत रूप से नहीं देखा. मुख्यमंत्री जी मेरे से बड़े हैं और उनके प्रति सम्मान है, लेकिन अगर वादों के मुताबिक काम नहीं हुआ तो उसकी बात उठाना जरूरी थी.

पायलट ने कहा कि जब पार्टी 21 सीटों पर सिमट गई थी, उसके बाद मैं अध्यक्ष बना और पार्टी को हमने सरकार तक लेकर आए. लेकिन सरकार बनाने में जिनकी भूमिका रही, उन्हें ही सम्मान नहीं मिलेगा तो ठे’स पहुंचती है.

कांग्रेस नेता ने कहा कि मैंने शुरुआत से कहा कि मैं पार्टी के अंदर रहकर ही स’वाल उठाउंगा, ऐसे में विप’क्षी पार्टी की ओर से फायदा उठाया गया.

निकम्मा वाले बयान पर सचिन पायलट ने कहा कि मुख्यमंत्री के बयान से मैं आ’हत था, लेकिन मैंने अपनी ओर से संयम नहीं तो’ड़ा और किसी तरह का गल’त जवाब नहीं दिया. सचिन ने कहा कि राजनीति में हमें अपने शब्दों पर ध्यान देना चाहिए. जब मैं पार्टी अध्यक्ष था तो सारे गुण मुझमें थे, लेकिन अब मैं निकम्मा हो गया.

कांग्रेस नेता ने कहा कि मेरे किसी भी समर्थक ने पार्टी या सीएम के खिला’फ गल’त बयान नहीं दिया, आज इसका प्रमाण मिल गया. जो विधायक पार्टी के लिए जे’ल गए हैं, वो ब’गावत कैसे कर सकते हैं.

इससे पहले देर रात सचिन पायलट ने ट्वीट कर सोनिया, राहुल, प्रियंका गांधी सहित कांग्रेस नेताओं को धन्यवाद दिया है. उन्होंने कहा कि वह राजस्थान की जनता से किए गए वादों को पूरा करने के लिए खड़े हैं. इससे पहले सोमवार की शाम को उन्होंने मीडिया से बातचीत में कहा कि यह एक वैचारिक मु’द्दा था जिसको पार्टी में हित में उठाना उचित था.