सचिन के चीनी कंपनी के ब्रांड अंबेसेडर बनने पर भ’ड़का CAIT कहा- तय करें धन बड़ा या देश

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व दिग्गज सचिन तेंदुलकर के खिला’फ कन्फ़ेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (CAIT) ने मो’र्चा खो’ल दिया है। कैट के मुताबिक जब ची’न-भारत के बीच एक तरह से शी’त यु’द्ध चल रहा है, ऐसे में सचिन का किसी भी बड़े ची’नी निवेश वाली कंपनी का ब्रांड अंबेसेडर बनना साफ तौर पर उनकी ज्यादा धन कमाने की इच्छा को दर्शाता है।

कैट (CAIT) ने सचिन तेंदुलकर को भेजा पत्र

कैट (CAIT) ने सचिन तेंदुलकर की कड़ी आलो’चना करते हुए कहा कि उनको देश को यह जवाब देना चाहिए. कैट ने यह भी कहा कि सचिन के इस फैसले से न केवल देश भर के व्यापारी बल्कि प्रशंसक भी बेहद ना’रा’ज हैं। कैट ने कहा की हमने इस सम्बंध में सचिन तेंदुलकर को पत्र भेजकर अपना फ़ैसला बदलने का आग्रह किया है।

ची’न निवेश वाली कंपनी का ब्रांड अंबेसेडर बनने में कोई श’र्म नहीं

कैट (CAIT) के राष्ट्रीय अध्यक्ष बीसी भरतिया और राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने कहा कि, एक तरफ देश में एक बड़ी ची’नी कंपनी भारत में जा’सूसी करती हुई पक’ड़ी जा रही है, वहीं दूसरी ओर सचिन तेंदुलकर जो अपने आपको भारत का बेटा कहते हैं, उन्हें ची’न निवेश वाली कंपनी का ब्रांड अंबेसेडर बनने में कोई श’र्म नहीं है।

हमारी वीर से’ना का भी बड़ा अप’मान

कैट (CAIT) द्वारा आगे कहा गया कि यह सीधे तौर पर हमारी वीर से’ना का भी बड़ा अप’मान है, जो विप’रीत परिस्थितियों और मौसम में देश की सीमाओं पर तै’नात रह कर देश की सुर’क्षा में लगे हैं। सचिन देश और से’नाओं की हौसला अफ’जाई नहीं करते बल्कि वर्तमान में दु’श्मन देश के पैसे से चल रही कम्पनियों के ब्रांड अंबेसेडर बन करो’ड़ों रुपए कमाने में ज़्यादा रूचि रखते हैं।

कैट (CAIT) ने ना’राज़गी जताते हुए कहा की विज्ञापनों में आने वाली हस्तियां एक प्रकार से हमारे युवाओं के लिए रोल मॉडल है। अब भी समय है, जब देश के लोगों की भाव’नाओं का सम्मान करते हुए सचिन को ऐसी कम्पनियों का ब्रांड अंबेसेडर न बनने की घोषणा तुरंत करनी चाहिए।