बेरोजगारी के मुद्दे पर मोदी सरकार को घेरने का बड़ा प्लान, यूथ कांग्रेस का ‘रोजगार दो’ अभियान

आर्थिक मं’दी और कोरो’ना की मा’र झे’ल रही अर्थव्यवस्था के कारण तेजी से बढ़ती बेरोजगारी के मु’द्दे पर केंद्र की मोदी सरकार को घेरने के लिए कांग्रेस की युवा इकाई यूथ कांग्रेस बड़ा अभियान शुरू कर रही है. 9 अगस्त को अपनी स्थापना दिवस के मौके पर यूथ कांग्रेस ‘रोजगार दो’ अभियान शुरू करने जा रही है. इस अभियान में यूथ कांग्रेस सोशल मीडिया से सड़क तक मोदी सरकार के खिला’फ प्रद’र्शन कर दबाव बनाएगी.

शुरुआती चरण में सोशल मीडिया पर अभियान चलाया जाएगा, जिसमें कांग्रेस के बड़े नेता भी शामिल होंगे. यूथ कांग्रेस की मांग है कि खाली पड़े सरकारी पदों पर भर्तियां हों और निजी क्षेत्र में रोजगार के नए अवसर पैदा करने के लिए नीतियां बनें.

यूथ कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीनिवास बीवी ने कहा, “भारत में आज करोड़ों युवा बेरोजगार हैं और लोग बेरोजगारी के कारण आ’त्मह’त्या तक कर रहे हैं. केंद्र की मोदी सरकार हर साल 2 करोड़ लोगों को नौकरी देने का वादा करके सत्ता में आई थी. इस हिसाब से 6 सालों में 12 करोड़ लोगों को रोजगार मिलना चाहिए था. लेकिन पिछले कुछ महीनों में ही 12 करोड़ लोगों की नौकरी चली गई.” उन्होंने आ’रोप लगाया कि केंद्र सरकार रेलवे का निजीकरण और सरकारी कंपनियों को बेचकर युवाओं के रोजगार के अवसर लगातार छी’न रही है.

श्रीनिवास ने बताया कि देशभर के बेरोजगार युवकों को ‘रोजगार दो’ अभियान से जोड़ा जाएगा. सोशल मीडिया पर अभियान चलाने के बाद दूसरे चरण में राज्य और जिला स्तर पर यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ता और बे’रोज’गार युवक प्र’दर्शन करेंगे और अभियान के तीसरे चरण में सभी बीजेपी सांसदों का उनके लोकसभा क्षेत्र में घे’राव किया जाएगा.

इस अभियान से युवाओं को ज्यादा से ज्यादा तादाद में जोड़ने के लिए यूथ कांग्रेस इसे दिलचस्प बनाने पर भी काम कर रही है. यूथ कांग्रेस के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी राहुल राव के मुताबिक सोशल मीडिया पर अभियान से जुड़े म्यूजिक वीडियो जारी किए जाएंगे. अभियान की शुरुआत में ‘रोजगार दो’ के पोस्टर लगी गाड़ियां घूम-घूम कर बीजेपी के पुराने वादों के ऑडियो लोगों को सुनाएगी. जगह-जगह नुक्कड़ मीटिंग की जाएगी और हर शहर में सिग्नेचर कैंपेन भी चलाया जाएगा.

आपको बता दें कि कोरोना लॉकडाउन के पहले भी फरवरी में यूथ कांग्रेस ने बेरोजगारी के मु’द्दे पर अभियान शुरू किया था. समर्थन जुटाने के लिए एक मिस कॉल नम्बर जारी किया गया था और राष्ट्रीय बेरोजगारी रजिस्टर बनाने की मांग की गई थी. राहुल गांधी ने जयपुर में रैली भी की थी. यूथ कांग्रेस के मुताबिक 40 लाख से ज्यादा मिस कॉल आए थे. कोरोना लॉकडाउन की मा’र से काफी रोजगार-धंधे बंद हुए हैं. ऐसे में रोजगार के मुद्दे पर एक बार फिर नए सिरे से यूथ कांग्रेस ने मोदी सरकार को घे’रने का बी’ड़ा उठाया है.