बीजेपी ने जनादेश के साथ किया ब’ला’त्कार, नीतीश उसी की पैदाइश: आरजेडी नेता

बिहार में आज शपथ ग्रहण समारोह शाम 4.30 बजे से होना है। नीतीश कुमार आज सातवीं बार राज्य के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। इस मौके पर एनडीए गठबंधन ने पारंपरिक तौर पर राजद और कांग्रेस समेत विपक्ष की सभी पार्टियों को शपथग्रहण में आने का न्योता दिया है।

हालांकि, पहले राजद, फिर कांग्रेस और बाद में लेफ्ट ने भी समारोह का बहि’ष्कार करने का ऐलान किया। अब इस पर राजद के प्रदेशाध्यक्ष जगदानंद सिंह ने ती’खे शब्दों का इस्तेमाल किया है। उन्होंने शपथग्रहण को नीतीश कुमार के अं’त का समारोह करा’र दे दिया।

जगदानंद ने वि’वादास्पद बयान देते हुए कहा, “राजद बिहार में बनने वाली नई सरकार के शपथ समारोह का बहि’ष्कार करती है। प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह ने कहा था कि ये अवै’ध सरकार है। ये जनादेश की ‘ड’कै’ती है। ड’कै’ती से भी आगे मैं कह सकता हूं ब’ला’त्का’र कर दिया। भाजपा के गोद में पलने वाले नीतीश कुमार पूरी बिहार की जनता और मतदाताओं के साथ जो भाजपा ने ब’ला’त्का’र किया, ड’कै’ती जनादेश का किया है, उसी की पै’दाइश हैं नीतीश कुमार।”

जगदानंद सिंह यहीं नहीं रुके। उन्होंने कहा, “जनादेश तो हमारे पास है फिर सवाल कहां है समारोह का। ये नीतीश के अंत का समारोह साबित होगा। इससे पहले राजद ने भी ट्विटर हैंडल पर कहा था, “राजद शपथ ग्रहण का बाय’कॉट करती है। बदलाव का जनादेश NDA के विरु’द्ध है। जनादेश को ‘शासनादेश’ से बदल दिया गया।

बिहार के बेरोजगारों, किसानों, संविदाकर्मियों, नियोजित शिक्षकों से पूछे कि उनपर क्या गुजर रही है। NDA के फ’र्ज़ीवाड़े से जनता आ’क्रो’शित है। हम जनप्रतिनिधि हैं और जनता के साथ खड़े हैं।”

इतना ही नहीं राजद ने एक अन्य ट्वीट में कहा था, “बिहार में दो मजबूरों की मजबूर सरकार बन रही है! एक शक्ति’वि’हीन, शि’थिल और भ्र’ष्ट प्रमाणित हो चुके मज’बूर CM! दूसरा चेहराविहीन और त’न्त्र प्रपन्च को मजबूर वरिष्ठ घटक द’ल! इनकी मजबूरी हैं- पहला राजद का जनाधार! और दूसरा तेजस्वी यादव को अपना सर्वाधिक प्रिय नेता स्वीकार कर चुका बिहार!”