TRP घो’टाला मा’मले में अर्नब गो’स्वामी ने बॉम्बे हाईकोर्ट से लगाई ये गुहार

रिपब्लिक टीवी के एडिटर इन चीफ अर्नब गोस्वामी ने बॉम्बे हाई को’र्ट से कथित टीआरपी घो’टाला मा’मले में जांच बं’द करवाने की गु’हार लगाई है। अर्नब का कहना है कि मुंबई उनके कर्मचारियों के खि’लाफ ब’दसलू’की कर रही है। ऐ’प्लिकेशन में यह भी कहा गया है कि रिपब्लिक टीवी के असिस्टेंट वाइस प्रेसिजें’ड घनश्याम सिंह को हि’रासत में लेकर प्रता’ड़ित किया गया।

अर्नब गोस्वामी ने अपने कर्मचारियों की सुरक्षा की मांग की है और कहा है कि मुंबई पुलिस अपनी शक्तियों का दुरु’पयोग कर रही है। गोस्वामी ने कहा कि इस जांच को बं’द कर देना चाहिए क्योंकि सारे आरो’प निरा’धार हैं। इस जांच का इस्तेमाल करके पुलिस रिपब्लिक टीवी के कर्मचारियों को परेशान करने का काम कर रही है।

रिपब्लिक टीवी और कर्मचारियों पर की गई एफआईआर को र’द्द करने की अर्जी अभी बॉम्बे हाई कोर्ट के पास पें’डिंग है। हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि बॉम्बे हाई कोर्ट इस याचिका पर फैसला सुनाए और तब तक अर्नब गोस्वामी अं’तरिम जमानत पर रहेंगे।

इससे पहले रिपब्लिक टीवी (Republic TV) और अर्नब गोस्वामी (Arnab Goswami) को सुप्रीम कोर्ट से राहत नहीं मिली है. सुप्रीम कोर्ट ने रिपब्लिक टीवी के खि’लाफ सभी एफआईआर को र’द्द करने और जांच को सीबीआई (CBI) को ट्रांसफर करने की याचिका पर सुनवाई से सोमवार को इनकार कर दिया. जस्टिस चंद्रचूड़ ने कहा कि यह याचिका प्रकृति में महत्वाकांक्षी है.

कोर्ट ने कहा कि आप चाहते हैं कि महाराष्ट्र पुलिस (Maharashtra Police) किसी भी कर्म’चारी को गि’रफ्तार न करे और के’स को सीबीआई को हस्तां’तरित कर दे. बेहतर है कि आप इसे वापस ले लें. याचिकाकर्ता ने याचिका वापस ले ली है.