बीजेपी सांसद रीता बहुगुणा की 6 साल की पोती की मौ’त, दिवाली रात हुआ था ये…

प्रयागराज से बीजेपी सांसद रीता बहुगुणा जोशी की 6 साल की पोती की इलाज के दौरान मौ’त हो गई। पटाखा छु’ड़ाते समय वह 60 प्रतिशत तक ज’ल गई थी। इसके बाद उसे तुरंत एक निजी अस्पताल में भ’र्ती कराया गया था। जोशी की पोती कीया को एयर ऐंबुलेंस से दिल्ली लाया जाने वाला था लेकिन इससे पहले ही उसने द’म तो’ड़ दिया।

बच्ची कुछ दिन पहले कोरो’ना से सं’क्रमित हो गई थी। गुड़गांव में परिवार के अन्य सदस्यों के साथ कीया का इलाज चला और ठीक होकर सब घर वापस आ गए थे। दिवाली पर कीया की मां उसे लेकर अपने मायके गई थीं। जानकारी के मुताबिक दिवाली की रात बच्चे छत पर खेल रहे थे। इसी दौरान किसी और के जलाए पटाखे से कीया घा’यल हो गई। रीता जोशी के इकलौते बेटे मयंक की कीया इकलौती बेटी थी।

रीता बहुगुणा 2007 से 2012 तक उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमिटी की अध्यक्ष थीं। बाद में वह बीजेपी में शामिल हो गईं। उत्तर प्रदेश सरकार में वह कैबिनट मंत्री रह चुकी हैं।

बाद में प्रयागराज से जीतकर वह लोकसभा पहुंचीं। पिछले दिनों उनके पति सहित परिवार के कई सदस्य गुड़गांव के अस्पताल में कोरो’ना का इला’ज करवा रहे थे। डिसचार्ज होने के बाद सभी घर में ही क्वारंटीन थे। दिवाली पर लंबे समय के बाद जोशी की बहू अपने मायके गई थीं।

उत्तर प्रदेश में योगी सरकार ने पटाखे पर बै’न लगाया था। एनजीटी के आदेश के बाद 13 से 30 नवंबर तक पटाखे ज’लाने और बिक्री पर सरकार ने रो’क लगा दी थी। बावजूद इसके उत्तर प्रदेश, दिल्ली समेत देश के अन्य राज्यों में भी लोगों ने पटाखे छुड़ाए। रात में कहीं पु’लिस ज्यादा स’ख्त नजर नहीं आई।

ड्रेस में लगी थी आ’ग, छत पर झु’लसी मिली थी

इलाहाबाद सांसद रीता बहुगुणा जोशी का पूरा परिवार दीपावली के मौके पर प्रयागराज में अपने म्योर रोड स्थित घर पर था। शनिवार की रात बच्ची किया दूसरे बच्चों के साथ घर की छत पर खेलने गयी थी। आशंका है कि उसी समय पटाखे से उसके कपड़ों में आ’ग लग गई जिससे वह ग’म्भीर रूप से झु’लस गई।

कपड़ों में आ’ग के बाद बच्ची किया ने शो’र मचाया, लेकिन घरवालों ने सोचा कि शायद बच्चे आपस में खेल रहे हैं। इसलिए किसी ने ध्यान नहीं दिया और न ही कोई उसे देखने गया। काफी देर बाद जब कोई छत पर गया तो देखा कि किया ग’म्भीर रुप से झु’लसी पड़ी थी।