बड़ी ख़बर: केंद्र को राकेश टिकैत ने दी धमकी, कानू’न वापस नहीं लिए तो कंपनियों के…

दिल्ली की सीमाओं पर केन्द्र के तीन नये कृषि कानू’नों के खि’लाफ किसानों का आं’दोलन 100 दिन से भी ज्यादा समय से जारी है। पिछले साल नवंबर में शुरू हुआ आं’दोलन मार्च में भी जारी है।

इसी बीच भारतीय किसान यूनियन (BKU) के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने केंद्र सरलर को धम’की दी है कि अगर कानू’न वापस नहीं लिए गए तो वे अब कं’पनियों के गो’दामों को नि’शाना बनाएंगे।

टिकैत ने  केंद्र सरकार को स्पष्ट शब्दों में चे’तावनी दी है कि यदि तीन कानू’नों को वापस नहीं लिया गया, आं’दोलन की अगली का’र्रवाई के तहत कुछ निजी कंपनियों के गोदामों को ध्वस्त कर दिया जाएगा।

अबोहर से 40 किमी दूर श्रीगंगानगर में संयुक्ता किसान मोर्चा (SKM) के आह्वान पर बुलाई गई ‘किसान महापंचायत’ में टिकैत ने कहा कि कुछ निजी कंपनियों ने नए कानू’न को ध्यान में रखते हुए बड़े-बड़े गोदामों का निर्माण किया है और अनाज का भं’डारण करना शुरू कर दिया।

टिकैत ने कहा कि भाजपा नीत राजग सरकार बैंकों, बीमा कंपनियों और अन्य सरकारी उद्यमों को निजी कंपनियों को बेचने की योजना बना रही थी। सरकार कानू’न लाने जा रही है जिसमें दूध, बिजली, फर्टिलाइजर, बीज और मोटर वाहनों की मार्केटिंग कॉर्पोरेट्स के हाथों में चली जाएगी।

उन्होंने युवाओं को किसानों के आं’दोलन की जिम्मेदारी लेने और खेतों की ओर रुख करने और खुद के लिए रोजगार पै’दा करने का आह्वान किया।

टिकैत ने कहा कि मीडिया कर्नाटक, तमिलनाडु और देश के अन्य हिस्सों में किसान आं’दोलनों की खबर नहीं दिखा रहा है, लेकिन हम सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों तक पहुंचेंगे। ओडिशा और मध्य प्रदेश में अगले 15-20 दिनों में एमएसपी खरीद आं’दोलन शुरू होने वाला है।

अपने आं’दोलन को तेज करते हुए संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) ने 26 मार्च को अपने ‘संपूर्ण भारत बं’द’ के लिए रणनीति बनाने के लिए विभिन्न जन संगठनों और सं’घों के साथ बुधवार को मुलाकात की।

गंगानगर किसान समिति के रंजीत राजू ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि किसान आं’दोलन के चार महीने 26 मार्च को पूरे होने के मौके पर राष्ट्रव्यापी बं’द के आह्वान के दौरान भी दुकानें और व्यापारिक प्रतिष्ठान 12 घंटे तक बंद रहेंगे। इसके बाद, 28 मार्च को केंद्र के तीन नये कृषि कानू’नों की प्रतियों का होलिका दहन किया जाएगा।

उन्होंने बताया, ‘‘बं’द सुबह छह बजे शुरू होगा और शाम छह बजे तक चलेगा और इस दौरान सभी दुकानें तथा डेयरी और सब कुछ बं’द रहेगा।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हम तीन (नये कृ’षि) कानूनों की प्रतियों का होलिका दहन करेंगे और उम्मीद है कि सरकार को सदबुद्धि आएगी और वह इन कानू’नों को रद्द करेगी तथा एमएसपी (न्यूनतम समर्थन मूल्य) के लिए लिखित गारं’टी देगी।”