राहुल गाँधी को जवाब देने के चक्कर में राजनाथ से हुई ये बड़ी भूल, अब उड़ रही है खिल्लियाँ

भारत-चीन सीमा विवा’द को सैन्य और राजनयिक स्तर पर बातचीत को लेकर सोमवार को पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने केंद्र सरकार पर नि’शाना साधा था। इसी पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने अपने एक ट्वीट में शायरी लिखी, जिसमें मिर्जा गालिब का जिक्र किया था। हालांकि उन्होंने अपने ट्वीट में जिस शायरी का जिक्र किया, वो मिर्जा गालिब का नहीं बल्कि मशहूर शायर मंज़र लखनवी का था।

बता दें कि राहुल गांधी ने अमित शाह (Amit Shah) के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि सबको मालूम है ‘सीमा’ की हक़ीक़त लेकिन, दिल के ख़ुश रखने को, ‘शाह-यद’ ये ख़्याल अच्छा है। दरअसल, गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को कहा था कि भारत की रक्षा नीति की वैश्विक स्तर पर स्वीकार्यता बढ़ी है। पूरी दुनिया यह मानती है कि अमेरिका और इजराइल के बाद अगर कोई देश है जो अपनी सीमाओं की रक्षा करने में समर्थ है तो वो भारत है। राहुल गांधी ने गृह मंत्री के इसी बयान को लेकर ट्वीट किया था।

राहुल के तं’ज के बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह का रिएक्शन आया। राजनाथ सिंह ने ट्वीट कर कहा, ‘मिर्ज़ा ग़ालिब का ही शेर थोड़ा अलग अन्दाज़ में है।’ ‘हाथ’ में द’र्द हो तो दवा कीजै, ‘हाथ’ ही जब द”र्द हो तो क्या कीजै।

हालांकि राजनाथ सिंह ने शेर को थोड़ा बदला और दिल की जगह ‘हाथ’ लिखा। उन्होंने शेर में से सिर्फ कुछ हिस्सा ही लिखा था। आइए पढ़ते हैं मजर लखनवी की पूरी शायरी, जो कुछ इस तरह है-

दर्द हो दिल में तो दवा कीजे
और जो दिल ही न हो तो क्या कीजे

ग़म में कुछ ग़म का मशग़ला कीजे
दर्द की दर्द से दवा कीजे

आप और अहद-ए-पुर-वफ़ा कीजे
तौबा तौबा ख़ुदा ख़ुदा कीजे

देखता हूँ जो हश्र के आसार
अपने तेवर मुलाहिज़ा कीजे
नज़र-ए-इल्तिफ़ात बन गई मौत
मिरी क़िस्मत को आप क्या कीजे

देखिए मुक़तज़ा-ए-हाल-ए-मरीज़
अब दवा छोड़िए दवा कीजे

चार दिन की हयात में ‘मंज़र’
क्यूँ किसी से भी दिल बु’रा कीजे (रेखता से…)

राहुल गांधी ने इसी ट्वीट पर मंगलवार को एक ट्वीट किया। राहुल गांधी ने भारत-चीन सीमा वि’वाद को लेकर सवाल किया है। उन्होंने रक्षा मंत्री पर तंज कसते हुए ट्वीट में लिखा, ”एक बार रक्षा मंत्री का हाथ के नि’शान पर टिप्पणी करना हो जाए, तो क्या वह जवाब दे सकते हैं कि क्या लद्दाख में चीन ने भारतीय क्षेत्र पर कब्जा कर लिया?”

इसके अलावा राजनाथ सिंह ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से महाराष्ट्र की जनता को संबोधित करते हुए कहा, ‘मैं राहुल गांधी जी को कहना चाहूंगा कि हाथ में दर्द हो तो दवा कीजिए, यदि हाथ ही दर्द हो तो क्या कीजिये! उन्होंने कहा कि कांग्रेस के कई नेता सवाल पूछ रहे हैं कि भारत चीन सीमा पर क्या हो रहा है? मैं देश की जनता को आश्वस्त करना चाहूंगा कि संसद में इस बारे में विस्तार से जानकारी दूंगा।