रे’प केस बढ़ने के लिए आबादी, इंटरनेट और युवा जिम्मेदार : राजस्थान DGP

हा’थरस समेत अलग-अलग हिस्सों में हो रही दु’ष्क’र्म की घ’टनाओं से देश गु’स्से में है. इस बीच राजस्थान के डी’जीपी भूपेंद्र सिंह यादव ने कहा कि अब संपत्ति विवा’द या आप’सी विवा’द को निपटाने के लिए भी दु’ष्क’र्म के भी क्रा’स के’स द’र्ज हो रहे हैं, जो कि नया ट्रेंड बन रहा है. पी’ड़ित को भी न्याय मिलने में दे’री होती है, ये है एक गं’भीर मसला है.

डी’जीपी भूपेंद्र सिंह यादव ने कहा कि इंटरनेट पर अप’राधिक सामग्रियां भी काफी मात्रा में प्रसारित हो रही हैं, जो पूरी तरीके से व’र्जित है. पु’लिस ने अपने स्तर पर द’र्जनों साइटों को हटाया है. सा’इटों को ह’टाने के बाद भी नई-नई साइट बन जाती है, जिन पर पु’लिस विभाग पूरी तरीके से नियंत्रण करने की कोशिश कर रहा है.

डी’जीपी भूपेंद्र सिंह यादव ने कहा कि राजस्थान में हिं’सक अप’राध बढ़ रहे हैं. इसके बहुत कारण हो सकते हैं, जिसमें जनसंख्या, बेरोजगारी और इंटरनेट से अप’राधिक गतिविधियों की प्रेरणा लेना शामिल है. पु’लिस इस पर फोकस कर रही है कि बच्चों को ज्यादा से ज्यादा शिक्षित किया जाए और परिजनों को भी इस संबंध में समझाया जाना चाहिए कि इंटरनेट का उपयोग सकारा’त्मक कार्यों के लिए ही किया जाए.

डी’जीपी भूपेंद्र सिंह यादव ने कहा कि साइबर क्रा’इम को रोकने के लिए नई कार्ययोजना बनाई जा रही है और नई सेल का गठन किया गया है, जिसमें बाहर के एक्सपर्ट लोगों को भी शामिल किया गया है. सोश’ल मी’डिया के माध्यम से होने वाले अप’राधों की मॉनिटरिंग की जाएगी और निश्चित रूप से सोश’ल मीडि’या के माध्यम से होने वाले अप’राधों पर ल’गाम लगाना बहुत जरूरी है.

पु’लिस क’र्मियों की मिल रही शिकाय’तों के सवाल पर डी’जीपी भूपेंद्र सिंह यादव ने कहा कि शि’का’यत आने का मुख्य कारण है कि हर आदमी पु’लिसक’र्मी से अपेक्षा रखता है और यह जरूरी नहीं कि कोई हर आदमी शा’लीन हो और शालीन होने के लिए किसी भी रैंक का कोई ता’ल्लुक नहीं है. जो गल’ती करता है और गल’ती करते पाया जाता है तो उसके खिला’फ ए’क्शन होता है.