राहुल गाँधी का मोदी सरकार पर तीखा हम’ला, कहा- प्रधानमंत्री में निजी साहस की कमी और ……….

कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने एक बार फिर लद्दा’ख में ची’नी घु’सपैठ ( को लेकर केंद्र की मोदी सरकार पर हम’ला बोला है. राहुल चीनी घु’सपै’ठ को लेकर लगातार केंद्र पर हम’लावर बने हुए हैं. शुक्रवार को उन्होंने फिर एक ट्वीट कर सरकार पर ती’खा हम’ला बोला है. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा है कि सरकार लद्दा’ख में ची’न के इरादों का सामना नहीं करना चाहती है. उन्होंने लिखा, ‘केंद्र सरकार लद्दा’ख में चीनी इरादों का सामना करने से ड’र रही है. ग्राउंड से मिले सबू’त यह इशारा कर रहे हैं कि ची’न खुद को तैयार कर रहा है, पोजीशन बना रहा है. प्रधानमंत्री में निजी साहस की कमी और मीडिया में इस मु’द्दे पर चु’प्पी के चलते भारत को बड़ी कीमत चुका’नी पड़ेगी.”

बता दें कि अप्रैल महीने से ही पूर्वी लद्दाख में L’AC (Lin’e of A’ctual Cont’rol) सहित कई इलाकों में भारतीय और चीनी सेना में त’नाव चल रहा है. इसे लेकर अभी दोनों देशों में कूटनीतक और सैन्य स्तर पर बातचीत हो ही रही थी कि 15 जून को यहां पर गलवान घाटी में दोनों देशों के सैनिकों के बीच हिं’सक झ’ड़प हो गई. ऐसी हिं’सक झ’ड़प दोनों देशों के बीच दशकों से नहीं हुई थी. इस झ’ड़प में 20 भारतीय जवानों ने अपनी जा’न गंवा दी, वहीं चीनी से’ना के भी 40 से ज्यादा सैनिकों के ह’ता’हत होने की खबर आई थी.

देश की मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस तब से केंद्र की मोदी सरकार पर लगातार हम’ले बोल रही है. उसका कहना है कि सरकार इस मु’द्दे पर देश को पूरा सच नहीं बता रही है. मोदी सरकार ने कई बार कहा है कि इलाके में ची’न की तरफ से घु’सपै’ठ नहीं की गई है. लेकिन ऐसी सैटेलाइट तस्वीरें सामने आई हैं, जिनमें इलाके में चीनी मौजूदगी की बात कही गई है.

बता दें कि र’क्षा मंत्रालय की वेबसाइट पर ची’नी घु’सपैठ को लेकर एक दस्तावेज अपलोड किया गया था, जिसमें घु’सपैठ की बात थी. इस पर एक अखबार में खबर प्रकाशित हुई थी. हालांकि, इस रिपोर्ट को बाद में ‘हटा लिया लिया गया था. जून महीने की इस रिपोर्ट में कहा गया है कि चीनी सैनिकों की एकतरफा आ’क्रा’मकता से पैदा हुए हालात सं’वेदन’शील बने हुए हैं तथा यह गति’रोध लंबा चल सकता है. राहुल गांधी ने इसपर भी सरकार पर हम’ला बोला था और कहा था कि ‘देश जब-जब भा’वुक हुआ है, फाइलें गायब हुईं. माल्या हो या राफ़ेल, नीरव मोदी या चौकसी… गुम’शुदा लिस्ट में ताजा हैं ची’नी अतिक्र’मण वाले द’स्तावेज़.’