दिल्ली की सीमाओ पर पुलिसिया इंतजाम, राहुल गाँधी ने मोदी सरकार को ऐसी लगाई फ’टकार

केंद्र के नए कृषि कानू’नों के खि’लाफ किसान दो महीने से ज्यादा वक्त से दिल्ली की अलग-अलग सीमाओं पर प्रदर्श’न कर रहे हैं. पुलिस ने किसानों को रो’कने के लिए सुरक्षा के क’ड़े इं’तजाम किए हैं. इसी को लेकर कांग्रेस ने आज फिर सरकार पर नि’शाना साधा. कांग्रेस सड़क से लेकर संसद तक और सो’शल मीडिया पर सरकार को घे’रने की कोशिश में है. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने मंगलवार को कहा कि सरकार को ब्रिज बनाने चाहिए, दीवार नहीं.

कांग्रेस नेता ने अपने ट्वीट में पुलिस द्वारा दिल्ली बॉर्डर पर किए गए कड़े सुरक्षा इं’तजामों की तस्वीर साझा करते हुए लिखा, “भारत सरकार, पुलों का निर्माण करें, दीवारों का नहीं!” पुलिस ने गाजीपुर बॉर्डर, सिंघु बॉर्डर और टिकरी बॉर्डर पर क’ड़ी सुरक्षा व्यवस्था की है.

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने एनडीटीवी से बातचीत में कहा कि लंबे समय से किसान दिल्ली की सीमाओं पर प्रता’ड़ना झे’ल रहे हैं. उनकी मांगों पर सबसे पहले संसद में चर्चा होनी चाहिए. हिं’सा का ब’हाना बनाकर अभियान तो’ड़ने के लिए कीलों का इस्तेमाल किया जा रहा है जैसे कि सामने कोई श’त्रु बैठा है. अहं’कार और जि’द्द की राजनीति ख’त्म होनी चाहिए.

किसान आं’दोलन और कृषि कानू’नों को लेकर मंगलवार सुबह संसद में हं’गामा देखने को मिला. राज्यसभा में कांग्रेस के नेतृत्व में विभिन्न विपक्षी दलों ने किसान आंदोलन के मु’द्दे पर सदन में तुरंत चर्चा कराने की मांग करते हुए हं’गामा किया. हंगामे के चलते सदन को कुछ देर के लिए स्थगित कर दिया गया. सभापति एम वेंकैया नायडू ने विपक्ष की मांग को अस्वीकार करते हुए कहा कि सदस्य बुधवार को राष्ट्रपति अभिभाषण पर होने वाली चर्चा में अपनी बात रख सकते हैं.