राफेल डील में बिचौ’लिए पर खुलासे के बाद पुण्य प्रसून बाजपाई ने कही ये बात, बीजेपी को लगी मि’र्ची

वरिष्ठ पत्रकार पुण्य प्रसून बाजपेयी (Punya Prasun Bajpai) सोशल मीडिया पर खूब सक्रिय रहते हैं और तमाम समसामयिक मु’द्दों पर अपनी राय रखते रहते हैं। ताजा मा’मला राफेल डील से जुड़ा है। इस मा’मले को उठाते हुए उन्होंने मोदी सरकार को घे’रा और भ्र’ष्टाचार को सिस्टम का हिस्सा बताया। अपनी पोस्ट में उन्होंने राफेल डील और ‘सौ करोड़ की वसू’ली’ का जिक्र भी किया।

बाजपेयी ने अपनी इस पोस्ट के साथ एक वीडियो भी शेयर किया। उन्होंने लिखा, ‘जब भ्र’ष्टाचार सिस्टम का हिस्सा बन जाये, तो राफ़ेल डील हो या सौ करोड़ की वसूली, सच कभी सामने आयेगा नहीं।’ इस पोस्ट के साथ साझा किए गए अपने वीडियो में भी वे पीएम मोदी को लेकर भी काफी कुछ कहते दिखे।

पुण्य प्रसून बाजपेयी की इस पोस्ट पर तमाम यूजर्स के रिएक्शन भी सामने आने लगे। कई लोग पीएम मोदी और केंद्र सरकार का समर्थन करते दिखे। तो कुछ बाजपेयी की बात से सहमति जताते दिखे। शोम रतूड़ी नाम के यूजर ने लिखा- ‘राफेल की तो 1000 बार जांच कर लो,सच्चाई ही निकलेगी, अगर इसमें कुछ घ’पला हुआ होगा तो 2014 से पहले लुटे’रों ने ही किया होगा। अब ये बैटिंग 100 करोड़ वालों को बचा’ने के लिए की जा रही है…।’

एक यूजर ने कमेंट में लिखा- ‘राफेल में घो’टाला हुआ है और वो भी 35000 करोड़ का। जिसे राहुल गांधी जी ने पहले से ही बताया था। और 100 करो’ड़ का कोई घो’टाला नहीं है, ये ठाकरे जी को ब’दनाम करने को लेकर रचा गया।’

प्रमिला नाम की यूजर ने लिखा- ‘‘इस व्‍यवस्‍था में कोई भी अकेला पैसा नहीं खाता, सब मिलकर खाते हैं, खाने वाले भी और पक’ड़ने वाले भी। इसलिए वास्‍तविक भ्र’ष्‍टाचारी कभी पक’ड़े नहीं जाएंगे। पक’ड़े जाने लगे तो इस देश के तीन चौथाई मंत्री, सांसद, विधायक जेल में होंगे।” -हरिशंकर परसाई।’

एक यूजर ने लिखा- मोदी जी आप तो बोल रहे थे बिचौ’लियों को ख़’त्म कर दिया, फिर ये राफेल डील में डसॉल्ट ने भारत के किस बिचौ’लिए को दिए थे, एक मिलियन यूरो ?