हाथरस कां’ड को लेकर देशभर में गु’स्सा, पीड़ित परिवार से मिलेंगे राहुल-प्रियंका

उत्तर प्रदेश के हाथ’रस में गैं’ग’रे’प का शि’कार हुई युवती को इंसा’फ दिलाने के लिए देशभर में गु’स्सा है. पीड़िता की मौ’त के बाद उसका जब’रन अंति’म सं’स्कार कर दिया गया, जिसपर कई सवाल खड़े हो रहे हैं. राजनीतिक दलों ने यूपी सरकार को नि’शाने पर लिया है. इस घमा’सान के बीच कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा आज ही पी’ड़िता के परिवार से हाथरस में मुलाकात करेंगी. प्रियंका गांधी के साथ उनके भाई और कांग्रेस नेता राहुल गांधी भी हाथरस जाएंगे.

इससे पहले जब पी’ड़िता की मौ’त हुई थी, तो प्रियंका ने पी’ड़िता के परिवार से फोन पर बात की थी. इस मा’मले के सामने आने के बाद प्रियंका ने यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ का इस्ती’फा मांगा है.

प्रियंका गांधी वाड्रा की ओर से यूपी सरकार पर निशा’ना सा’धा गया है. उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि हाथरस जैसी वी’भत्स घ’टना बलरामपुर में घ’टी, लड़की का ब’ला’त्का’र कर पैर और कमर तो’ड़ दी गई. आजमगढ़, बागपत, बुलंदशहर में बच्चि’यों से दरिं’द’गी हुई. यूपी में फैले जं’गलरा’ज की हद नहीं. मार्केटिंग, भाषणों से का’नून व्यवस्था नहीं चलती, ये मुख्यमंत्री की जवाब’दे’ही का वक्त है जनता को जवाब चाहिए.

SIT ने शुरू की अपनी जां’च

इस बीच प्रदेश सरकार ने जिस SIT का गठन किया है, उसने अपनी जां’च शुरू कर दी है. गृह सचिव भगवान स्वरूप की अगुवाई में ए’सआ’ईटी की टीम ने पी’ड़िता के परिवार से मुलाकात की. जिसके बाद जानकारी दी गई है कि टीम की ओर से शुरुआती जां’च शुरू कर दी गई है, सात दिन के अंदर हर पहलू पर मंथन किया जाएगा और रिपोर्ट दी जाएगी.

दिल्ली की निर्भ’या की मां ने बढ़ाया मदद का हाथ

दूसरी ओर दिल्ली गैं’गरे’प की निर्भ’या की मां आशा देवी की हाथ’रस जाने की खबरें थीं. हालांकि, उन्होंने इससे इन’कार किया है. आशा देवी ने कहा कि अभी हाथरस में पी’ड़िता के घर पर भा’री पु’लिस ब’ल तै’नात है, साथ ही कोरो’ना भी है, इसलिए वहां जाने का उनका अभी इरादा नहीं है.

हालांकि, आशा देवी ने कहा कि पी’ड़िता का परिवार अगर चाहेगा, या न्याय दिलाने में परिवार को उनकी मदद चाहिए होगी तो वो हाथरस में अपनी बेटी खो चुके परिवार की हर संभव मदद करेगी.

आशा देवी ने कहा है कि परिवार की दुःख की घड़ी में उनको अन्दाजा है कि उन लोगों पर क्या बीत रही होगी, क्योंकि वो खुद भी इन द’र्द से बर’सों गुजरी हैं. आशा देवी ने कहा कि आरो’पियों से क़ा’नून को उसी स’ख्ती से निपटने की जरूरत है, जैसे नि’र्भया के दो’षियों को स’ज़ा दी गई थी.

गौरतलब है कि हाथरस में 19 साल की द’लित युव’ती के साथ चार लोगों ने गैं’ग’रे’प किया था. करीब पंद्रह दिन तक सं’घर्ष करने के बाद दिल्ली में युवती की मौ’त हो गई थी. इसके बाद पु’लिस ने हाथरस पहुंचकर खुद ही युवती के श’व को ज’ला दिया, जबकि परिवार को अं’तिम दर्श’न और सं’स्कार नहीं करने दिया गया.