प्रवासी मजदूरों की मौ’त पर बोले राहुल: उनका म’रना देखा जमाने ने, एक मोदी सरकार है जिसे खबर ना हुई

संसद के मानसून सत्र के पहले दिन ही वि’पक्ष ने केंद्र सरकार को बै’कफु’ट पर ध’केल दिया। इस दौरान केंद्र द्वारा दिया गया एक ब’यान सु’र्खियों में छा गया है। दरअसल, विपक्ष ने सरकार से पूछा कि लॉ’कडाउन में कितने प्रवासी मज’दूरों की जा’न गई। इस पर केंद्र ने कहा कि उसके पास इस संबंध में आंक’ड़ा नहीं है। वहीं, अब कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने सर’कार को इस म’सले पर घे’रा है।

कांग्रेस नेता ने शायराना अंदाज में मोदी सरकार को घेरा और ट्वीट कर कहा, ‘मोदी सरकार नहीं जानती कि लॉकडाउन में कितने प्रवासी मजदूर म’रे और कितनी नौकरियां गईं।’ कांग्रेस नेता ने लिखा, ‘तुमने ना गिना तो क्या मौ’त ना हुई? हां मगर दु’ख है सरकार पे असर ना हुआ, उनका म’रना देखा जमाने ने, एक मोदी सरकार है जिसे खबर ना हुई।’

गौरतलब है कि कोरो’ना वाय’रस के कारण जब देश में लॉ’कडा’उन लागू किया गया, तो उस दौरान प्रवासी मज’दूर इससे खासा प्रभावित हुए। प्रवासी मजदूरों का ज’त्था इस दौरान बड़े औद्योगिक शहरों से निकलकर अपने मू’ल स्थान पर लौटने लगा।

लाखों की संख्या में मजदूर सड़कों पर उतरे और इस दौरान देशभर में कई जगह स’ड़क हा’दसे हुए। इसमें कई मज’दूरों की मौ’त हुई। इसके बाद सरकार ने मज’दूरों को उनके गृह राज्य पहुंचाने के लिए श्र’मिक स्पेशल ट्रेनों का संचालन किया।

वहीं, सोमवार को मानसून सत्र के दौरान विपक्ष ने सरकार से सवाल किया कि लॉ’कडाउन के दौरान कितने प्रवा’सी मजदूरों की मौ’त हुई, क्या सरकार के पास इसके संबंध में कोई डाटा है। इस पर केंद्र ने कहा कि सरकार के पास प्रवासी मजदूरों की मौ’त की संख्या को लेकर कोई डा’टा उपलब्ध नहीं है।

बता दें कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी वर्तमान में देश से बाहर हैं। कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी अपनी साला’ना चि’कित्सा जां’च करवाने के लिए विदेश गई हुई हैं। सोनिया के साथ राहुल भी विदेश गए हैं। हालांकि, राहुल द्वारा लगातार ट्वीट कर सर’कार पर हम’ला बोला जा रहा है।