पीएम मोदी ने विपक्ष को बताया महिला विरोधी, तो लोगों ने मोदी जी को याद दिलाये ये पुराने बयान

मॉनसून सत्र की शुरुआत जोरदार हंगामे के साथ हुई है. पहले लोकसभा में विपक्षी दलों के नेता ने पीएम मोदी के संबोधन में बाधा डाली, फिर राज्यसभा में भी यही स्थिति रही. राज्यसभा में विपक्ष के हंगामे के बीचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी सदन में मौजूद सदस्यों के बर्’ताव पर जमकर बरसे. पीएम ने कहा कि विपक्ष की मा’नसिकता म’हिला वि’रोधी है.

राज्यसभा में पीएम ने कहा कि आज जब देश के किसान परिवार के बच्चे मंत्री बनकर सदन में उनका परिचय हो रहा है तो कुछ लोगों को बड़ी पी’ड़ा हो रही है. इस सदन में मंत्री बनी महिलाओं का परिचय हो रहा है तो वो कौन सी महिला विरो’धी मान’सिकता है जिसके कारण सदन में उनका नाम सुनने को भी तैयार नहीं हैं.

आगे पीएम ने कहा कि ये कौन सी मानसिकता है जो दलि’तों, आदि’वासियों, किसान के बेटे का गौरव करने को तैयार नहीं है? इस प्रकार की मान’सिकता पहली बार सदन ने देखी है. वहीं, विपक्ष के हंगामे के बाद राज्यसभा दोपहर दो बजे के लिए स्थगित कर दी गई.

विपक्ष को दलित मंत्री रास नहीं आ रहेः पीएम मोदी

वहीं लोकसभा में भारी हं’गामे के बीच पीएम मोदी ने कहा था कि खु’शी की बात है कि कई दलित भाई मंत्री बने हैं. हमारे कई मंत्री ग्रामीण परिवेश से है, लेकिन कुछ लोगों को ये रास नहीं आ रहा है. मैं सोच रहा था कि आज सदन में उत्सा’ह का वातावरण होगा क्योंकि बहुत बड़ी संख्या में हमारी महिला सांसद, दलित भाई, आदिवासी, किसान परिवार से सांसदों को मंत्री परिषद में मौका मिला. उनका परिचय करने का आनंद होता.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विपक्ष को महिला विरो’धी मान’सिकता करार देने के बाद सोशल मीडिया पर लोगों ने उन्हें पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर किए गए ‘दीदी ओ दीदी’ वाले कमेंट को याद करवाया है।

Pegasus पर बवाल के आसार

मॉनसून सत्र में विपक्षी दल सरकार को जहां किसान आंदोलन, महंगाई, बेरोजगारी जैसे मुद्दों पर घेरने की कोशिश में है. वहीं विपक्ष के हमलों को फेल करने के लिए सरकार ने भी बड़ी प्ला’निंग की है, लेकिन सत्र से एक दिन पहले Pega’sus हैकिंग विवाद ने तय कर दिया है कि मॉनसून सत्र हंगामेदार होने वाला है.

बीते दिन अंतरराष्ट्रीय मीडिया द्वारा जारी एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि Pega’sus स्पाइवेयर द्वारा भारत में कई पत्रकारों, नेताओं और अन्य सार्वजनिक जीवन से जुड़े लोगों का फोन हैक किया गया. दावा है कि ये सरकार द्वारा करवाया गया, लेकिन केंद्र सरकार ने इन आरो’पों को नकार दिया है.

भाजपा नेताओं द्वारा मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के लिए कही गई अप’मान’जनक बातों का जवाब उन्हें राज्य की जनता ने दिया। भाजपा पश्चिम बंगाल में 2 अंकों में सिमट गई।

कहा जाता है कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के बारे में भाजपा नेताओं द्वारा की गई इस तरह की टिप्पणियों से राज्य की महि’लाओं में भाजपा के प्रति काफी गु’स्सा था।

खासतौर पर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दीदी हो दीदी वाले भ’द्दे कमेंट से।

ऐसे में भाजपा का विपक्ष को महिला विरो’धी मान’सिकता रखने वाला करा’र देना एक मजाक की तरह प्रती’त होता है।