बड़ी ख़बर: PM मोदी का अधिकारियों को निर्देश, ‘ब्लैक फं’गस की दवाई दुनिया में जहां भी…’

कोरोनावायरस (Coronavirus) के बाद अब भारत में महामा’री का रूप ले चुके ब्लैक फंगस (Black Fungus) या म्यूकॉरमायकोसिस से नि’पटने के लिए सरकार यु’द्ध स्तर पर जु’ट गई है. इसके इलाज के लिए डॉक्टर लिपोसोमल एंफोटेरेसिरिन बी नाम के इंजेक्शन का उपयोग करते हैं. इस दवा के उत्पादन को ब’ढ़ावा देने के लिए भारत सरकार ने पांच और कं’पनियों को इसे बनाने का लाइसेंस दिया है.

सरकारी सूत्रों के मुताबिक पीएम मोदी लगातार इस सिलसिले में अधिकारियों के साथ बैठक कर रहे हैं. उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि यह दवा दुनिया के जिस भी कोने में भा उपलब्ध हो, उसे तुरंत भारत लाया जाए. उनके निर्देश के बाद दुनिया भर में फैले भारतीय दूतावास अपने-अपने देशों में उपलब्ध इस दवा को भारत भेजने में जु’ट गए हैं. इस दिशा में किए जा रहे प्रयासों का असर देखने में मिला है. इसके लिए अमेरिका की गलियड साइंसेज नाम की कंपनी से मदद मिली है.

सरकारी सूत्रों के मुताबिक गलियड साइंसेज एंबीसॉम को फार्मास्यूटिकल कंपनी मायलन के जरिए भारत भेजने के काम में तेजी ला रही है. अभी तक इसकी 121,000 वायल या शीशियां भारत भेजी जा चुकी हैं. जल्दी ही 85,000 वायल और पहुंचने वाली है.

गलियड साइंसेज ने मायलन के जरिए भारत में एंबीसॉम की दस लाख खुराक भेजने का लक्ष्य रखा है. कंपनी ने यह भी कहा है कि दुनिया के अन्य देशों में उपलब्ध इस दवा का स्टॉक ह’टाया जा रहा है और उसे भारत भेजा जाएगा.