बाल- बाल बची पाक में इमरान खान की सरकार, विश्वास मत में इतने वोटों से हासिल करी जीत

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने विश्वास मत में जीत हासिल कर ली है. पाकिस्तान के निचले सदन ‘नेशनल असेम्बली’ में आज विश्वास मत को लेकर वो’टिंग हुई. प्रधानमंत्री को अपनी सरकार बचाने के लिए 171 वो’टों की दरकार थी लेकिन उन्हें 178 वोट हासिल हुए.  इसके होने से इमरान खान की सरकार ब’च गई !

पाकिस्तान तहरीक ए इन्साफ़ की सरकार पर तब सं’कट आ गया जब पाकिस्तानी सीनेट की इस्लामाबाद सीट के लिए हुए चु’नाव में वित्त मंत्री हफ़ीज़ शेख़ चु’नाव हार गए. हफ़ीज़ शेख़ को पूर्व प्रधानमंत्री युसूफ़ रज़ा गिलानी ने विपक्ष के साझा उम्मीदवार के रूप में हरा’या. प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने इस चुनाव को अपनी साख से जोड़ा हुआ था.

इस्लामबाद सीनेट सीट हा’रने के बाद ख़ान पर दबा’व था कि वो प्रधानमंत्री पद से इस्तीफ़ा दें. इसी वजह से इमरान ख़ान ने राष्ट्र के नाम संबोधन करके ये एलान किया था कि वो वोट ऑफ़ कॉन्फिडेंस (विश्वास प्रस्ताव) का सामना करेंगे. इमरान ख़ान ने सत्तापक्ष के सभी सदस्यों से वोटिंग में शामिल होने को कहा था, ऐसा न करने पर कार्यवाई करने की बात भी कही थी.

आपको बता दें कि 342 सदस्यीय नेशनल असेंबली (पाकिस्तान की संसद का निचला सदन) में इमरान खान की पार्टी के 157 सदस्य हैं। निचले सदन में विपक्षी पीएमएल-एन और पीपीपी के क्रमश: 84 और 54 सदस्य हैं। राष्ट्रपति आरिफ अल्वी ने शनिवार को सत्र बुलाया. इमरान खान ने कहा कि आज से 50-55 साल पहले दुनिया में पाक की मिसाल दी जाती थी क्योंकि उसका रुतबा था।

तब अमेरिका जाने पर हमारे राष्ट्रपति से मिलने अमेरिकी राष्ट्रपति आया करते थे लेकिन धीरे-धीरे मैंने अपने मुल्क को नीचे आते देखा है। उन्होंने आगे कहा, देश के नीचे आने का बड़ा कारण 1985 के बाद देश में शुरू हुआ भ्र’ष्टाचार रहा। प्रधानमंत्री खान ने सीनेट चु’नाव का ज़िक्र करते हुए इसमें भ्र’ष्टाचार के आरो’प लगाए ।