रक्षा मंत्रालय में है कोई चीनी जासूस ? पी.चिदंबरम ने ट्वीट के जरिये कही ये बात

लद्दाख में ची’नी घु’सपै’ठ के मु’द्दे पर पूर्व गृह मंत्री पी.चिदंबरम ने कई ट्वीट किए हैं। इन ट्वीट में चिदंबरम ने लिखा है कि “कोई तो है जो राजनाथ सिंह को रक्षा मंत्रालय से बाहर करना चाहता है! अन्यथा, र’क्षा मंत्रालय की वेबसाइट ची’नी आ’क्रा’मकता और भारतीय क्षेत्र पर क’ब्जे के बारे में सच्चाई क्यों बताएगी?” बता दें कि गुरुवार को र’क्षा मंत्रालय ने एक नो’ट जारी किया था, जिसमें सरकार ने यह पहली बार माना था कि ची’न की सेना ने घु’सपै’ठ की है लेकिन इस ब’यान के सामने आते ही यह सोशल मीडिया पर वाय’रल हो गया और इस पर विवा’द बढ़ने लगा, जिसके बाद इसे र’क्षा मंत्रालय की वेबसाइट से डि’लीट कर दिया गया।

इस मु’द्दे पर सरकार पर निशा’ना सा’धते हुए पी.चिदंबरम ने कहा कि “उस एक बयान से श्री राजनाथ सिंह को नुक’सान हुआ (लोगों ने पूछा, क्या मंत्रालय और सेना खु’फिया सू’चना’ओं पर कार्र’वाई करने में वि’फल रहे और चीनी सैनिकों और उपकरणों को लाने और एलएसी को पा’र करने की अनुमति दी?)

प्रधानमंत्री पर निशा’ना सा’धते हुए पी.चिदंबरम ने कहा कि “उस ब’यान से नरेंद्र मोदी की प्रसिद्ध घोषणा को भी उजागर कर दिया कि भारतीय क्षेत्र में कोई घु’सपै’ठ नहीं हुई है और कोई भी भारतीय क्षेत्र पर क’ब्जा नहीं कर रहा है। मुझे संदे’ह है कि र’क्षा मंत्रालय में एक ची’नी जासू’स है!”

 

बता दें कि पीएम मोदी ने अपने एक ब’यान में लद्दाख में घु’सपै’ठ की बात से इं’कार किया था। जिस पर वि’पक्षी पार्टियों ने गल’वान घाटी में हुई हिं’सा में हमारे 20 जवानों की शहादत को लेकर पूछा था कि जब हमारी जमीन पर कोई घुस’पै’ठ ही नहीं हुई तो हमारे सैनिक क्यों शही’द हुए? वि’पक्ष के हम’ले के बाद सरकार बैकफुट पर नजर आयी थी और बाद में सरकार ने पीएम के बया’न पर सफाई भी दी थी।

यही वजह है कि अब जब रक्षा मंत्रालय ने भी घु’सपै’ठ की बात मान ली है तो एक बार फिर विप’क्षी पार्टियां खासकर कांग्रेस सरकार के खिला’फ आ’क्रा’मक हो गए हैं। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने रक्षा मंत्रालय की वेबसाइट से नोट को डिली’ट करने के वि’रोध में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के घर के बाहर वि’रोध प्र’दर्शन भी किया।