भारत से ल’ड़ने वाले नेपाल पीएम के खि’लाफ उठे ब’गावत के सुर, नेपाली कर रहे ये मांग

नेपाल में चीन पर फिदा ओली सरकार के खि’लाफ विपक्ष लगातार हम’लावर हो गया है। चीन ने नेपाल के 10 बड़े जगहों पर क’ब्जा किया है। इसमें एक गांव के 72 परिवार भी रहते हैं। विपक्ष ने लगातार चीन पर ओली सरकार की मेहरबानी को लेकर नि’शाना साधा है।

नेपाल में चीन की चाल को विपक्ष ने अच्छी तरह समझ लिया है। प्रचं’ड ने कहा, ”हमने सुना है कि सत्ता में बने रहने के लिए पाकिस्तान, अफगानिस्तान या बांग्लादेश मॉडल पर काम चल रहा है। लेकिन इस तरह के प्रयास सफल नहीं होंगे। भ्र’ष्टाचार के नाम पर कोई हमें जेल में नहीं डाल सकता है। देश को से’ना की मदद से चलाना आसान नहीं है और ना ही पार्टी को तो’ड़कर विपक्ष के साथ सरकार चलाना संभव है।”

पार्टी के वि’रोधी खेमे के रुख को देखकर यह तय माना जा रहा है कि ओली से पार्टी अध्यक्ष या प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा ले लिया जाएगा। ऐसा भी हो सकता है कि चीन के करीबी ओली की दोनों ही पदों से विदाई हो जाए।

बुधवार को केपी ओली और पुष्प कमल दहल ने एक दूसरे पर जम’कर नि’शाना साधा था। ओली स्टैंडिंग कमिटी में अल्पमत में हैं, लेकिन आ’रोप उनपर अधिक हैं। काठमांडू पोस्ट की एक रि’पोर्ट में कहा गया है स्टैंडिंग कमिटी में विरो’धी खेमे के दो सदस्यों के मुताबिक, ओली से प्रधानमंत्री का पद छो’ड़ने को कहा जाएगा।

बताया जा रहा है कि केपी ओली पार्टी में पूरी तरह अलग-थलग पड़ चुके हैं। यह भी हो सकता है कि उनसे कहा जाए कि पार्टी अध्यक्ष या प्रधानमंत्री के पद में से उन्हें कोई एक छो’ड़ना होगा। सूत्रों के मुताबिक विकल्प मिलने पर ओली पार्टी अध्यक्ष का पद छो’ड़ना चाहेंगे।