कृषि बिल वि’रोध : विपक्ष उपसभापति के खिला’फ लाया अविश्वास प्रस्ताव, की हटाने की मांग

संसद का मानसून सत्र जारी है. संसद में कृषि से जुड़े दो बिल को ध्व’नि मत से राज्यसभा में पास करवाया जा चुका है. इन बिलों को पास करवाते वक्त विप’क्ष का जो’रदार हं’गामा भी देखने को मिला. वहीं अब ना’रा’ज वि’पक्ष के जरिए राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश नारायण सिंह के खिला’फ अवि’श्वास प्रस्ताव लाया गया है.

उपसभापति को करनी चाहिए लो’कतां’त्रिक परंपराओं की र’क्षा

कांग्रेस के राज्यसभा सांसद अहमद पटेल ने कहा, ‘उपसभापति हरिवंश को लोकतां’त्रिक परंपराओं की र’क्षा करनी चाहिए, लेकिन इसके बजाय, उनके रवै’ये ने आज लोकतांत्रिक परंपराओं और प्रक्रियाओं को नु’कसान पहुंचाया है. इसलिए हमने उनके खिला’फ अविश्वास प्रस्ताव लाने का फैसला किया है.’

आज राज्यसभा में कृषक उपज व्यापार और वाणिज्य (संवर्धन और सरलीकरण) विधेयक, 2020 और  कृषक (सशक्तिकरण और संरक्षण) कीमत आश्वासन और कृषि सेवा पर करार विधेयक, 2020 पास हो गए हैं. बिल ध्वनि मत से पास हुए. इस दौरान वि’पक्ष के जरिए काफी हं’गामा भी किया गया. हालांकि उच्च सदन से बिल पास हो गए हैं. जिसके बाद अब वि’पक्ष राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश नारायण सिंह के खिला’फ अवि’श्वास प्रस्ताव लाया है.

रूल बुक फा’ड़ी

इससे पहले टीएमसी सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने उपसभापति के सामने रूल बुक फा’ड़ दी थी. डेरेक ओ ब्रायन और तृणमूल कांग्रेस के बाकी सांसदों ने आसन के पास जाकर रूल बुक दिखाने की को’शिश की और उसको फा’ड़ा. टीएमसी सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने सरकार पर धो’खा देने का आ’रोप लगाया. उन्होंने कहा कि सरकार ने संसद में हर नियम को तो’ड़ दिया. वे राज्यसभा टीवी के फीड का’टते हैं ताकि देश देख न सके. उन्होंने आरए’सटीवी को सें’सर कर दिया. हमारे पास सबू’त हैं.

वेल में पहुंचे सांसद

राज्यसभा की कार्य’वाही के दौरान विप’क्षी सांसदों की ओर से ना’रे’बाजी भी देखने को मिली. कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के जवाब से अ’संतुष्ट कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के सांसद वेल में पहुंच गए. कांग्रेस सांसद गुलाम नबी आजाद ने कहा कि राज्यसभा का समय ना बढ़ाएं.

मंत्री का जवाब कल हो, क्योंकि अधिकतर लोग यही चाहते हैं.

माइक तो’ड़ा

राज्यसभा का समय 1:00 बजे तक का था. हालांकि सरकार आज ही इस बिल को पास करवाना चाहती थी. इस दौरान विप’क्ष के हंगामे के बीच नरेंद्र सिंह तोमर जवाब देते रहे. इस बीच सदन में हंगामा कर रहे सांसदो ने आसन के सामने लगे माइक को भी तो’ड़ दिया.