यूपी: मशहूर शायर मुनव्वर राणा की बेटी ने रखा राजनीति में कदम, इस पार्टी से मिलाया हाथ

नागरिकता संशोधन कानू’न (CAA) विरो’धी आंदोलन के दौरान चर्चा में आईं जाने-माने शायर मुनव्वर राणा की बेटी सुमैय्या राणा आ’खिरकार पूरी तरह से राजनीति में कदम रख दिया।

मंगलवार को उन्होंने यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की मौजूदगी में समाजवादी पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। उनके अलावा गोण्डा के मसूद आलम खान, पूर्व सांसद प्रत्याशी रमेश गौतम, पूर्व विधायक समेत गोण्डा जिले के कई नेता और उनके समर्थकों ने भी पार्टी की सदस्यता ली।

नागरिकता संशोधन कानू’न (CAA) वि’रोधी आंदोलन के दौरान लखनऊ के घंटाघर में सुमैया राणा ने जो’रदार प्रदर्श’न किया था। राज्य की योगी आदित्यनाथ सरकार के खि’लाफ वह लगातार मुखर आं’दोलन करती रहीं।

उनके खि’लाफ पुलिस ने केस दर्ज कर का’र्रवाई भी की थी और उन्हें जेल भी भेजा गया था। उनकी कई संपत्तियां भी कुर्क कर ली गई थीं। सुमैया राणा के खि’लाफ मु’कदमे दर्ज हो चुके हैं। पिछले नवंबर में उन्हें घर में नजरबं’द कर दिया गया था।

उनके राजनीति में आने से समाजवादी पार्टी की महिला विंग और मजबूत होगा। 2022 के विधानसभा चु’नाव में उनके सक्रिय रहने से पार्टी को फायदा भी मिलेगा। सुमैय्या राणा तेज तर्रार नेता हैं और मंच पर अपनी बात प्रमुखता से रखने के लिए जानी जाती हैं। मंगलवार को लखनऊ स्थित समाजवादी पार्टी के प्रदेश कार्यालय में उन्होंने पार्टी की सदस्यता ली।

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के घं’टाघर पर CAA और NRC के विरो’ध में प्रदर्श’न कर रहे लोगों पर पुलिस ने सख्त रवैया अपनाया था। पुलिस ने शायर मुनव्वर राणा की दो बेटियों समेत प्रदर्श’न कर रही 16 महिलाओं के खि’लाफ एफआ”ईआर दर्ज किया था।

इन पर आरो’प था कि इन्होंने एक महिला कॉन्स्टेबल के साथ दुर्व्यवहार किया है। 20 जनवरी 2020 को शहर के गोमती नगर के उजियारी क्षेत्र में करीब 15 महिलाएं एक दरगाह के पास बैठकर सीएए और एनआरसी के खिलाफ प्रदर्शन रही थीं। लखनऊ पु’लिस ने कहा कि प्रदर्श’न के माध्यम से आम लोगों के भीतर भय और भ्र’म फै’लाया जा रहा था।