बर्थडे स्पेशल: 82 साल के हुए मुलायम सिंह यादव, अखाड़े से लेकर राजनीति तक ऐसा रहा सफरनामा

समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव आज 82 साल के हो गए.  सियासी गलियारों में नेता जी के नाम से मशहूर मुलायम सिंह का जन्मदिन कोरो’ना काल के चलते इस बार बेहद सादगी से मनाया जा रहा है. सामान्य तौर पर उनके जन्मदिन पर प्रदेश भर के पार्टी कार्यालयों में कार्यक्रम का आयोजन किया जाता था. मुलायम सिंह के यादव के मुख्यमंत्री काल में तो उनकी उम्र के हिसाब उतने ही वजन का केक काटने की भी परंपरा रही है.

समाजवादी पार्टी के पितामाह मुलायम सिंह यादव के जन्मदिन के मौके पर तमाम नेता उन्हें बधाई दे रहे हैं. केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने ट्वीट किया, ”उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री तथा के संस्थापक श्री मुलायम सिंह यादव जी को जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएं. आप स्वस्थ और दीर्घायु रहें, ईश्वर से यही कामना करता हूं.”

इसके साथ लोकसभा स्पीकर ओम बिरला ने भी मुलायम सिंह यादव को जन्मदिन की शुभकामनाएं दी हैं. उन्होंने ट्वीट किया, ”वरिष्ठ राजनेता और मैनपुरी(उत्तर प्रदेश) से लोकसभा सांसद श्री मुलायम सिंह यादव जी को जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएँ. आपके उत्तम स्वास्थ्य और दीर्घायु जीवन की कामना है.”

वहीं समाजवादी पार्टी ने अपने नेता को बधाई देते हुए लिखा, ”समाजवादी पार्टी के जनक आदरणीय नेताजी के जन्मदिन पर उन्हें हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं! नेता जी के आशीर्वाद से हम सब एक साथ मिलकर सामाजिक न्याय के संघर्ष को जारी रखते हुए समाजवादी पार्टी को मजबूत करने के प्रति संकल्पित हैं. ईश्वर से नेताजी की दीर्घायु एवं स्वास्थ्य की प्रार्थना.”

मुलायम सिंह यादव पर एक नजर

यूपी की सियासत का अहम अध्याय माने जाने वाले मुलायम सिंह यादव का जन्म यूपी के इटावा के सैफई गांव में हुआ था. उनकी पढ़ाई लिखाई की बात करें तो उनके पास अपने तीन B.A, B.T और राजनीति शास्त्र में M.A को लेकर कुल तीन डिग्रियां हैं. उन्होंने अपने शैक्षणिक जीवन में केके कॉलेज इटावा, एक.के कॉलेज शिकोहाबाद और आगरा यूनिवर्सिटी से पढ़ाई की.

मुलायम सिंह यादव सबसे ज्यादा राम मनोहर लोहिया से प्रेरित रहे. मुलायम का राजनीतिक सफर बेहद लंबा रहा है. 1967 में पहली बार मुलायम सिंह यादव ने विधायक का कार्यभार संभाला और उसके बाद वो 7 बार विधायक रहे. उसके बाद वो आबादी के लिहाज से सबसे बड़े प्रदेश यूपी के तीन बार मुख्यमंत्री रहे. यूपी के मुख्यमंत्री के अलावा वो 1996 से 1998 तक केंद्र सरकार में र’क्षामंत्री भी रहे.

मुलायम सिंह यादव ने दो शादियां की. उनकी पहली पत्नी का नाम मालती देवी था. जिनका 2003 में नि’धन हो गया. अखिलेश यादव उन्हीं के बेटे हैं. उन्होंने दूसरी शादी साधना गुप्ता से की जिनके बेट प्रतीक यादव हैं.

मुलायम सिंह यादव का सियासी सफर…

1960 में राजनीति में कदम रखा

1967 में पहली बार विधायक बने

1977 में वो राज्य मंत्री बने

1980 में लोकदल का अध्यक्ष पद संभाला, जो बाद में जनता दल का हिस्सा बन गई

1985-87 तक वे उत्तर प्रदेश में जनता दल के अध्यक्ष रहे

1989 में वो पहली बार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने

1992 में उन्होंने समाजवादी पार्टी का गठन किया

1993-95 में वो दूसरी बार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने

केंद्र सरकार में रक्षा मंत्री के पद पर भी रहे

2003 से 2007 में वो तीसरी बार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने