यूपी: मजाक बना वैक्सीनेशन, नर्स ने महिला को दो बार लगा दिया कोरोना का टीका, ये है कारण

पूरी दुनिया को कोविड ने अपनी जद में ले लिया है. वहीं, सरकार इसकी रोकथाम के लिये लगातार तमाम प्रयास कर रही हैं. जहां सैकड़ों जाने इस महामा’री के चलते चली गई, वहीं इस पर अंकुश लगाने के लिए केन्द्र से लेकर राज्य सरकारें तक पूरी मुस्तैदी और सतर्कता बरतने की अवाम से अपील करती भी नज़र आ रही हैं. लेकिन जब ला’परवाही स्वास्थ्य महकमे की ओर से ही हो तो आप क्या कहेंगे? जी हां. कानपुर देहात में एक एएनएम ने प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में मोबाइल में बात करते करते एक महिला को एक ही समय मे दो बार कोविड वैक्सीन लगा दी.

स्वास्थ्य महकमे की बड़ी ला’परवाही

सरकार लगातार कोरोना महामा’री की गं’भीरता को ध्यान में रखते हुए जनता से अपील कर रही है कि, वो इसके चलते मास्क ,सेनेटाइजेशन और उचित दूरी का हर हा’ल में ध्यान रखे और किसी भी तरह की समस्या होने पर स्वास्थ्य विभाग की मदद ले, लेकिन जब जान बचाने वाले ही लाप’रवाही करने लगे तो क्या होगा?

फोन पर बात करते हुये दो बार लगा दिया टीका

इस पूरे घट’नाक्रम के मुताबिक, कानपुर देहात जिले के मंडोली पीएचसी में तै’नात एएनएम अर्चना को स्वास्थ्य केंद्र में कोविड वैक्सीन लगाने की ज़िम्मेदारी दी गई थी. लेकिन अर्चना अपने मोबाइल पर बात करने में इतनी मशरूफ थी कि उसने मंडौली क्षेत्र की रहने वाली कमलेश देवी को एक ही बार में कोविड वैक्सीन की दो डो’ज़ लगा दी. जिससे कमलेश देवी के हाथ में सूजन भी आ गई और दर्द भी है. जब कमलेश देवी ने दो इंजेक्शन की बात पूछी तो अर्चना ने गलती से लगने की बात बोलकर अपना पल्ला झा’ड़ लिया और उ’ल्टा पी’ड़ित को ही फ’टकार लगा दी.

सीएमओ ने झा’ड़ा प’ल्ला

स्वास्थ्य महक’मे की ओर से हुई इतनी बड़ी ला’परवाही कमलेश देवी की जिंदगी पर भारी भी प’ड़ सकती थी, लेकिन इससे शायद स्वास्थ्य विभाग के कानों पर जू भी नहीं रेंगी और उनकी ओर से कितनी बड़ी चूक हो गई है. इस बाबत जब हमने जिले के मुख्य चिकित्सा अधिकारी से बात की तो उन्होंने फोन पर तो हमसे बात कर ली लेकिन ऑन कैमरा कुछ भी बोलने से मना कर दिया और शासन की ओर से कुछ भी नहीं बोलने की बात कहकर फोन का’ट दिया.