यूपी विधानसभा चु’नावों को लेकर बसपा सुप्रीमो मायावती ने कर दिया ये ऐलान

बसपा संस्थापक कांशीराम की जयंती पर बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) सुप्रीमो मायावती ने सोमवार को प्रेस कॉन्फेंस की। मायावती ने बड़ा ऐलान करते हुए कहा कि यूपी में 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव बीएसपी अकेले लड़ेगी। मायावती ने कहा कि बहुजन समाज पार्टी यूपी में अकेले चुनाव ल’ड़ेगी। गठबंधन करने पर दूसरी पार्टी को फायदा होता है हमें नहीं।

बसपा अध्‍यक्ष ने कहा कि देश के कई राज्यों में विधानसभा के चु’नाव हो रहे हैं, हमारी पार्टी केरल, पश्चिम बंगाल, पुडुचेरी और तमिलनाडु में भी चुनाव अकेले अपने बलबू’ते पर ल’ड़ रही है। हमारी पार्टी इन चार राज्यों में किसी भी पार्टी के साथ गठबंधन नहीं करेगी।

मायावती ने इस दौरान केंद्र और राज्य सरकार पर भी ज’मकर नि’शाना साधा। उन्‍होंने कहा, ‘जब देश के किसान केंद्र सरकार के कृषि कानू’नों से सहमत नहीं हैं तो केंद्र सरकार को कानू’नों को वापस लेना चाहिए।

जिन कि’सानों की इस आं’दोलन में मृ’त्यु हुई है उनके परिवारों को केंद्र और राज्य सरकारों को उचित आर्थिक सहायता और परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देनी चाहिए। उन्होंने दावा किया कि केवल बसपा ने अपना सब कुछ दिया है, ताकि दलितों, शोषितों, आदिवासियों, पिछ’ड़े वर्गों, मु’स्लिमों और अन्य धा’र्मिक अल्पसंख्यकों का सम्मान हो सके।

मायावती ने बसपा राज में चीनी मिलों के बि’कने के सवाल पर कहा कि मायावती ने कहा कि किस संस्था के साथ क्या किया जाना है, यह निर्णय सत्ता में रहने वाली सरकार करती है। चीनी मिलों को बेचने का फैसला कैबिनेट ने किया था। यह सरकार का सामूहिक फैसला था, यह किसी एक मंत्री की जिम्मेदारी नहीं। यह मंत्रालय भी दूसरे मंत्री के पास था।