अमित शाह के बंगाल दौरे से पहले सीएम ममता का तंज, चंबल के डकै’त और गुं’डे…

पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने कहा है कि तृणमूल कांग्रेस (TMC) सरकार ‘मां, माटी, मानुष’ की है, और ये तीन तत्व कभी धोखा नहीं दे सकते, विश्वासघा’त या झू’ठ नहीं बोल सकते। हम झू’ठ बोलकर वोट नहीं लेते हैं, हम जो कहते हैं वह करते हैं, यह टीएमसी का संकल्प है। कहा कि “चंबल के कुछ डकैत और बाहरी गुं’डे बंगाल में प्रवेश कर लिए हैं। कभी वे पुलिस को धम’की देते हैं तो कभी वे टीएमसी को ध’मकी देते हैं। आज टीएमसी एक बरगद के पेड़ की तरह ग’हरा है। 2-3 लोग जो जानते हैं कि उन्हें पार्टी से टिकट नहीं मिलेगा वे जा रहे हैं।”

पश्चिम बंगाल के कूच बिहार में एक रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने भाजपा पर आरो’प लगाया कि वह तृणमूल कांग्रेस के नेताओं को भगवा पार्टी में शामिल करने के लिए विवश कर रही है। कहा, “कभी वे कहते हैं कि सीएए लागू किया जाएगा और एनआरसी नहीं किया जाएगा, कभी वे कहते हैं कि एनआरसी लागू किया जाएगा और एनपीआर नहीं किया जाएगा, लेकिन मैं आज बता रही हूं, वे तीनों करेंगे। मैंने अपने राज्य में एनपीआर की अनुमति नहीं दी और ऐसा नहीं किया जाएगा।”

कहा, “भाजपा नेताओं की दुस्साहस की कल्पना करें, वे मेरी पार्टी के वरिष्ठ नेता सुब्रत बख्शी को बुला रहे हैं और उन्हें पार्टी में शामिल होने के लिए कह रहे हैं। भाजपा के पास कोई राजनीतिक शिष्टाचार या विचारधारा नहीं है। एक या दो अवसरवादी हैं जो केवल अपने लाभ के लिए काम करते हैं।”

उन्होंने कहा, ‘पार्टी के पुराने नेता हमारी वास्तविक संपत्ति है। भाजपा टीएमसी नेताओं को शामिल होने के लिए मजबूर कर रही है। यह विपक्षी दलों को तो’ड़ने के लिए मनीबैग का उपयोग कर रही है … लेकिन, हम विधानसभा चुनाव में उनसे ल’ड़ेंगे और हरा’एंगे।” उन्होंने टीएमसी के कई वरिष्ठ नेताओं, मंत्रियों और विधायकों के पार्टी नेतृत्व और राज्य सरकार के खि’लाफ खु’लकर बोलने पर नारा’जगी जताई।