हरियाणा में लव जि’हाद पर कानू’न की तैयारी मगर 64 सालों में केवल इतने मा’मले दर्ज

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) और मध्य प्रदेश की BJP शासित सरकारों की तरह हरियाणा में भी लव जिहाद (Love Jihad) पर कानू’न बनाने की तैयारी चल रही है. सूत्रों का कहना है कि हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने लव जिहाद पर कानू’न का मसौदा तैयार करने के लिए बिना ड्राफ्ट कमेटी की बैठक एक दिसंबर को बुलाई है. इस बैठक में विधेयक का खाका अं’तिम रूप ले सकता है. UP में लव जिहाद अध्यादेश के जरिये लागू भी हो चुका है, जबकि एमपी में इसकी तैयारी है.

ड्राफ्ट कमेटी को लव जिहाद पर अन्य राज्यों के कानूनों का अध्ययन करने की जिम्मेदारी सौंपी गई थी. यूपी और मध्य प्रदेश सरकारों ने लव जिहाद के दो’षियों के लिए 10 साल की सजा’ का प्रावधान किया है. एक दिसंबर की बैठक में इन राज्यों के कानू’नों पर भी विचार होगा.लव जिहाद पर कानू’न बनाने के लिए बनी ड्राफ्ट कमेटी में राज्य के गृह सचिव टीएल सत्यप्रकाश, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक नवदीप सिंह विर्क और अतिरिक्त महाधिवक्ता दीपक मनचंदा शामिल हैं.

हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने गृह विभाग को शादी के लिए हुईं धर्मां’तरण की घ’टनाओं का आंकड़ा इकट्ठा करने को कहा था. विभाग को पंजाब से अलग होकर 1966 में हरियाणा राज्य बनने के वक्त से इस आंकड़े को जुटाना था. हालांकि 64 सालों में  शादी के लिए धर्मां’तरण के महज 77 मा’मलों का ही पता चला है. इसमें वे लोग शामिल हैं, जिन्होंने शादी के पहले या उसके दो साल के भीतर ध’र्मांतरण किया हो.