यूपी और MP के बाद अब इस राज्य लव जि’हाद के खि’लाफ कानू’न पास, रखा ये प्रावधान

उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के बाद अब जल्द ही गुजरात में लव जि’हाद के खि’लाफ कानू’न को मंजूरी मिल जाएगी. गुजरात विधानसभा से आज ‘लव जि’हाद’ रोकने संबंधी बिल को मंजूरी मिली है.

विधेयक में ज’बरन ध’र्मांतरण कराने के मा’मले में दस साल तक की कै’द की स’जा का प्रावधान है. विधेयक के माध्यम से 2003 के एक कानू’न को संशोधित किया गया है जिसमें बलपूर्वक या प्रलोभन देकर ध’र्मांतरण करने पर स’जा का प्रावधान है.

सरकार के अनुसार गुजरात धा’र्मिक स्वतंत्रता (सं’शोधन) विधेयक, 2021 में उस उ’भरते चलन को रो’कने का प्रावधान है जिसमें महिलाओं को ध’र्मांतरण कराने की मंशा से शादी करने के लिए ब’हलाया-फु’सलाया जाता है. विधानसभा में मुख्य विपक्षी कांग्रेस के सदस्यों ने विधेयक के खि’लाफ मतदान किया.

संशोधन के अनुसार शादी करके या किसी की शादी कराके या शादी में मदद करके ज’बरन ध’र्मांतरण कराने पर तीन से पांच साल तक की कै’द की स’जा सुनाई जा सकती है और दो लाख रुपये तक का जु’र्माना लग सकता है. यदि पी’ड़ित ना’बालिग, महिला, द’लित या आदिवासी है तो दो’षी को चार से सात साल तक की स’जा सुनाई जा सकती है और कम से कम तीन लाख रुपये तक का जु’र्माना लगाया जाएगा.

यदि कोई संगठन कानू’न का उल्लं’घन करता है तो प्रभारी व्यक्ति को न्यूनतम तीन वर्ष और अधिकतम दस वर्ष तक की कै’द की स’जा दी जा सकती है. सदन ने दिनभर चर्चा के बाद विधेयक को मंजूरी दे दी.