एक साल में हटाएंगे सभी टोल प्लाजा नितिन गडकरी ने लोकसभा में कर दिया ये ऐलान, साथ ही कहा…

केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने गुरुवार को लोकसभा में व्हीकल स्क्रैपेज पॉलिसी का ऐलान किया। इसके तहत अब सरकार पुराने वाहनों को स्क्रैप बनाए जाने के बदले नई गाड़ी खरीदने पर ग्राहकों को डिस्काउंट देने का प्रावधान रख रही है। गड़करी ने कहा कि इस पॉलिसी के तहत अगर कोई व्यक्ति अपने पुराने वाहन को स्क्रैपिंग (कबाड़ में बदलने) के लिए देता है तो नए वाहन की खरीद पर उसे 5 फीसदी डिस्काउंट दिया जाएगा।

गडकरी ने इस नीति का ऐलान करते हुए कहा कि इससे लोगों को नए वाहन खरीदने में आसानी होगी। साथ ही स्क्रैप सेंटर, ऑटो इंडस्ट्री और कलपुर्जे से जुड़े उद्योगों को भी नीति से फायदा होगा। गडकरी ने आंकड़े पेश करते हुए कहा कि अभी देश में 20 साल से पुराने 51 लाख वाहन हैं। इसके अलावा 15 साल से पुराने भी 34 लाख वाहन हैं। साथ ही बिना फिटनेस सर्टिफिकेट वाले 15 साल से पुराने 17 लाख वाहन और भी हैं। फिट वाहनों के मु’काबले पुराने वाहन 10-12 गुना ज्यादा प्र’दूषण फै’लाते हैं और सड़क सुरक्षा के लिए ख’तरा होते हैं।

केंद्रीय मंत्री ने कहा, “वाणिज्यिक वाहन 15 साल के बाद और 20 साल से पुराने निजी वाहन खुद डी-रजिस्टर कर दिए जाएंगे। केंद्र, राज्य, नगरपालिका, पंचायत, पीएसयू और स्वायत्त संस्थाओं के वाहन 15 साल के बाद ही डी-रजिस्टर हो जाएंगे। साथ ही इन्हें स्क्रैप भी कर दिया जाएगा।”

बता दें कि केंद्र सरकार ने यह नीति प्रदूषण कम करने के साथ ऑटो सेक्टर को मजबूत करने के लिए बनाई है। इससे देश की स्क्रैप इंडस्ट्री को भी तैयार किया जाएगा। दरअसल, जो भी वाहन स्क्रैप किए जाएंगे उन से निकलने वाले पार्ट्स को रिसाइकल किया जाएगा। इनसे निकलने वाले पार्ट्स काम में आएंगे और इनकी कीमत में भी कमी आएगी।

अगले एक साल में ख’त्म होंगे सभी टोल बूथ: गडकरी ने सदन से टोल प्लाजा को लेकर बड़ा ऐलान किया। लोकसभा में नितिन गडकरी ने कहा कि अगले एक साल में देश से सभी टोल प्लाजा ख’त्म कर दिया जाएगा। हालांकि इसका यह मतलब नहीं होगा कि टोल देना ही नहीं प’ड़ेगा। अब गाड़ियों में जीपीएस सिस्टम लगाया जाएगा जिसकी मदद से टोल शुल्क का भुगतान हो सकेगा।