किसान आंदोलन के बीच कृषि मंत्री का बयान, GST पर भी लोगों ने कहा था मोदी सरकार गई, मगर…

कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने बुधवार को ग्वालियर में एक सभा को संबोधित करते हुए कहा कि जब पीएम मोदी ने विमुद्रीकरण (Demonetisation) लागू किया तो कांग्रेस ने कहा कि उसकी उल्टी गिनती शुरू हो गई है। जब उन्होंने जीएसटी लागू किया, तो लोगों ने कहा कि उनकी सरकार वापस नहीं आएगी, लेकिन 2019 के चुनावों में लोगों ने उन्हें पिछले चुनावों की तुलना में अधिक सीटों के साथ दूसरी बार प्रधानमंत्री बना दिया।

उन्होंने कहा कि जब देश के एक कोने में पंजाब के किसानों को गु’मराह करने और आंदोलन करने का प्रयास किया जा रहा है, तो नरेंद्र मोदी सरकार के खेत कानू’नों का समर्थन देने के लिए रीवा, सागर, ग्वालियर, उज्जैन और अन्य स्थानों में लोग जुट रहे हैं। बोले कि मैं आप सभी को धन्यवाद देता हूं।इस बीच कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा है कि सरकार प्रदर्श’न कर रहे किसानों को फिर से बातचीत के लिए आमंत्रित करेगी। द इंडियन एक्सप्रेस को दिए इंटरव्यू में तोमर ने कहा कि जनता ने 303 सीटों के साथ जनादेश केवल सत्ता के लिए नहीं बल्कि सुधार लाने के लिए दिया है।

कृषि मंत्री ने नोटबंदी और जीएसटी को सुधार बताते हुए कहा कि भारत को बदलने का प्रयास किया जा रहा है और इसीलिए जनता ने 2019 में पार्टी को भारी जनादेश दिया। उन्होंने कहा, ‘नरेंद्र मोदी जी ने पहले कार्यकाल में बहुत सारे सुधार किए। लोगों ने कहा नोटबंदी है अब उल्टी गिनती शुरू हो गई है। जीएसटी है तो उल्टी गिनती शुरू…दूसरे कार्यकाल में नरेंद्र मोदी को 287 के स्थान पर 3030 सीट देकर जिताया। इसके मायने हैं कि नरेंद्र मोदी जी से देश ये चाहता है कि जो सुधार राजनीतिक स्वार्थ के चलते, द’बाव-प्रभाव के चलते, जो बदलाव देश में आज तक नहीं आ पाया, वो’ट बैंक की राजनीति के कारण, उससे ऊपर उठकर नरेंद्र मोदी जी काम करें।’

किसानों के विरो’ध को शांत करने के लिए अगले कदम के बारे में सवाल पूछने पर तोमर ने कहा, कुछ किसानों से अनौपचारिक चर्चा हुई है। 9 दिसंबर को सरकार की तरफ से भेजे गए प्रस्ताव पर प्रतिक्रिया की प्रतीक्षा कर रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘सरकार की तरफ से बदलाव के प्रस्ताव पर जवाब आने के बाद फिर से बातचीत को तैयार हैं।’ कृषि मंत्री ने स्पष्ट कर दिया कि सरकार कृषि कानू’नों को वापस लेने को तैयार नहीं है। उन्होंने जल्द समस्या का समाधान निकालने की बात कही।