कंगना पर भ’ड़की उर्मिला मांतोडकर बोली- कौन से संस्कारी घर की लड़की ‘उखाड़ लोगे’ इस्तेमाल करती है?

उर्मिला मांतोडकर ने कंगना और जया विवा’द पर बात करते हुए कहा कि जब कंगना जी पैदा भी नहीं हुई थीं तो जया जी कई बेहतरीन फिल्मों में काम कर चुकी थीं जिनमें मिली, गुड्डी और अभिमान जैसी फिल्में शामिल हैं. ये बेहद दुर्भा’ग्यपू’र्ण है कि कंगना इंडस्ट्री के सीनियर कलाकारों से इस तरह से बात करती हैं.

उन्होंने जिस लिहाज से जया बच्चन को प्रतिक्रिया दी है, ऐसा भारतीय समाज के संस्कार नहीं सिखाते हैं. इसे किसी भी तरह से भारतीय संस्कृति नहीं कहा जा सकता है. उर्मिला मांतोडकर ने कंगना पर ती’खा हम’ला करते हुए पूछा कि ‘उखा’ड़ लोगे’ जैसे शब्दों का इस्तेमाल कौन से संस्कारी घर की ल’ड़की करती है.

र्मिला मातोंडकर (Urmila Matondkar) ने जया बच्चन को लेकर किये गए कंगना रनौत (Kangana Ranaut) के ट्वीट पर जवाब दिया. उन्होंने कहा, “जब कंगना का जन्म भी नहीं हुआ था तब से ही जया बच्चन ने फेमि’निस्म पर आधारित फिल्में की हैं, जिसमें ‘गुड्डी’ जैसी फिल्में शामिल हैं.”

इसके साथ ही उर्मिला मातोंडकर ने कंगना रनौत पर निशा’ना सा’धते हुए कहा, “मैं हाथ जोड़कर सवाल पूछना चाहती हूं कि क्या जया जी ने व्यक्तिगत तौर पर टिप्प’णी की है जो वह लगातार उनपर ट्वीट पर ट्वीट करती जा रही हैं. उनके बच्चों और परिवार पर सवा’ल उठा रही हैं.” बता दें कि उर्मिला ने इसके अलावा बॉलीवुड और ड्र’ग्स को लेकर भी बातचीत की.

उर्मिला मातोंडकर (Urmila Matondkar) ने बॉलीवुड और ड्र’ग्स पर बातचीत करते हुए कहा, “बॉलीवुड अगर इतनी नशे’ड़ि’यों की इंडस्ट्री है तो इतने लंबे समय तक कैसे टिक पाई है. हमारे माननीय प्रधानमंत्री ने इसी न’शे’ड़ी इंडस्ट्री को बुलाया था और उनसे एक तरह का साथ चाहा था, महात्मा गांधी के विचारों को लोगों तक पहुंचाने के लिए.

अगर कंगना के पास वाकई बॉलीवुड और ड्र’ग्स से जुड़ी कोई जानकारी है तो वह बाहर आकर बोलें. मैं कहूंगी कि जो लोग इसमें शामिल हैं उन्हें बुलाना चाहिए और स’ख्त से स’ख्त कार्र’वाई करनी चाहिए.” इसके साथ ही एक्ट्रेस ने कहा कि बॉलीवुड के लोग हमेशा से सॉ’फ्ट टा’र्गेट रहे हैं.