विडियो : सीएम उद्धव ठाकरे पर बरसी कंगना बोली तु’च्छ आदमी श’र्म आनी चाहिए तुम …..

बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत ने एक बार फिर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पर पल’टवार किया है. कंगना रनौत ने इस बार हिमाचल प्रदेश को देवभूमि बताते हुए महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री को तु’च्छ व्यक्ति कह डाला है. दरअसल, कंगना का ये बयान उद्धव ठाकरे की ओर से हिमाचल प्रदेश को गं’जे की खेती करने वाला राज्य बताने वाले बयान के बाद में आया है.

कंगना ने किया ये ट्वीट

सीएम ठाकरे के बया पर क’ड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कंगना रनौत ने ट्विटर लिखा, ”मुख्यमंत्री आप बहुत तु’च्छ व्यक्ति हैं. हिमाचल को देव भूमि कहा जाता है, यहां सबसे अधिक संख्या में मंदिर हैं और क्रा’इम रेट शून्य है.

हां, यहां की जमीन बहुत उपजाऊ है, यह सेब, कीवी, अनार और स्ट्रॉबेरी की उपज होती है, यहां कोई कुछ भी उगा सकता है.’ कंगना ने अगले ट्वीट में लिखा, ”आप एक ऐसे नेता हैं जिसका नजरिया एक ऐसे राज्य को लेकर ता’मसिक, अदूरदर्शी और कम जानकारी वाला है, जो भगवान शिव और मां पार्वती का निवास स्थान है.

इसके अलावा कई महान संतों जैसे मार्केंडेय, मनु ऋषि और पांडवों ने निर्वासन का लंबा समय हिमाचल में बिताया.” कंगना रनौत ने एक अन्य ट्वीट में ती’खे शब्दों का इस्तेमाल करते हुए लिखा, ”मुख्यमंत्री, आपको खुद पर श’र्म आनी चाहिए, जनसेवक होने के बावजूद आप इस तरह के तु’च्छ झ’ग’ड़े में शामिल हैं, अपनी शक्ति का इस्तेमाल आपसे अहसमत लोगों के अप’मान और नु’कसान के लिए कर रहे हैं. गं’दी राजनीति खेलकर आपने जो कुर्सी हासिल की है, उसके लायक आप नहीं हैं.

श’र्म की बात है.” पहले ट्वीट में टाइपो को ठीक करते हुए उन्होंने कहा कि हिमाचल में कोई अप’राध नहीं है. उन्होंने कहा, ”एक बार फिर साफ करना चाहती हूं कि हमारे यहां हिमाचल में ग’रीब या बहुत अधिक अमीर लोग या अपराध नहीं है. यह एक आध्यात्मिक स्थान है जहां बहुत मासूम और दयालु लोग रहते हैं.”

उद्धव ठाकरे का बयान

रविवार को दशहरा भाषण के दौरान उद्धव ठाकरे ने कंगना रनौत या हिमाचल प्रदेश का का नाम लिए बिना कहा कुछ लोग मुंबई रोजी-रोटी के लिए आते हैं और इसे पी’ओ’के बताकर गा’ली देते हैं. उद्धव ने कहा, ”मुंबई पी’ओ’के है, यहां हर जगह ड्र’ग्स लेने वाले लोग हैं. वे कुछ इस तरह की तस्वीर बनाना चाहते हैं. वे नहीं जानते हैं कि हम अपने घरों में तुलसी उगाते हैं, गां’जा नहीं. गां’जे के खेत आपके राज्य में है, आप जानते हो कहां, महाराष्ट्र में नहीं.” उद्धव ठाकरे के बयान से साफ जाहिर हो रहा था कि वो नाम लिए बिना ही कंगना और हिमाचल प्रदेश की बात कर रहे हैं.