कोर्ट के फैसले के बाद आया कंगना का रिएक्शन, उद्धव सरकार को कह दी ये बात

महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) सरकार के खि’लाफ लगातार हम’लावर रहीं कंगना रनौत (Kangana Ranaut) को कोर्ट से बड़ा झ’टका लगा है. फ्लैट्स में अनधिकृत निर्माण गिराए जाने को रोकने के लिए दायर की गई कंगना की याचिका को कोर्ट ने खारिज कर दिया. कोर्ट ने कहा कि कंगना ने नियमों का उल्लंघन कर तीन फ्लैट्स का आपस में मर्जर कर लिया. अब इस पर कंगना का बयान सामने आया है.

कंगना ने किया ट्वीट

कंगना (Kangana Ranaut) ने ट्वीट कर कहा, ‘ये महावि’नाशकारी सरकार का फेक प्रोपेगैंडा है. मैंने कोई फ्लैट आपस में नहीं जोड़े हैं. पूरी बिल्डिंग इसी तरह बनी हुई है. हर फ्लोर पर एक अपार्टमेंट है. मैंने ऐसे ही ये फ्लैट खरीदा था. बीएमसी मुझे पूरी बिल्डिंग में प्रता’ड़ित कर रही है. हम उच्च न्यायालय में ल’ड़ेंगे.’ कुछ मिनट पहले हुए इस ट्वीट पर काफी रिएक्शन आ रहे हैं और लोग इस पर अपनी राय भी दे रहे हैं.

जज ने कही ये बात

बता दें, मा’मले की सुनवाई करते हुए जज एल एस चव्हाण ने आदेश में कहा, ‘कंगना रनौत (Kangana Ranaut) ने शहर के खार इलाके में 16 मंजिला इमारत की पांचवीं मंजिल पर अपने तीन फ्लैट्स को मिला लिया था. ऐसा करते हुए उन्होंने संक एरिया, डक्ट एरिया और आम रास्ते को कवर कर दिया. ये स्वीकृत योजना का गं’भीर उल्लं’घन है, जिसके लिए सक्षम प्राधिकार की मंजूरी जरूरी है.’

कंगना को जारी हुआ था नोटिस

बता दें, बृहन्मुंबई नगर निगम (BMC) ने मार्च 2018 में अभिनेत्री को उनके खार के फ्लैटों में अनधिकृत निर्माण कार्य के लिए नोटिस जारी किया था, लेकिन उसके बाद से मा’मला ठं’डा पड़ा हुआ था. इसके अलावा भी BMC की टीम अनधिकृत निर्माण के आ’रोप में कंगना रनौत (Kangana Ranaut) के ऑफिस में तो’ड़फो’ड़ कर चुकी है. इसके खि’लाफ कंगना ने हाई कोर्ट ने तो’ड़फो’ड़ को गलत बताते हुए BMC को फटका’र लगाई थी.