किसान आं’दोलन को लेकर राकेश टिकैत के बेटे का ऐलान- जब तक गि’र नहीं जाती मोदी सरकार, तब तक…

महेंद्र सिंह टिकैत के बेटे और राकेश टिकैत के छोटे भाई नरेंद्र टिकैत ने कहा है कि मोदी सरकार जब तक गि’र नहीं जाती है तब तक यह आं’दोलन चलता रहेगा। साथ ही उन्होंने कहा कि मोदी सरकार के बचे हुए साढ़े तीन साल तक, कृ’षि कानू’नों के खि’लाफ दिल्ली बॉर्डर पर आं’दोलन करने के लिए किसान तैयार हैं। विरो’ध प्रदर्श’न बं’द नहीं होगा।

नरेंद्र टिकैत किसान राजनीति में बहुत अधिक सक्रिय नहीं रहे हैं। महेंद्र सिंह टिकैत के भारतीय किसान यूनियन में उनके दो बड़े भाई नरेश टिकैत और राकेश टिकैत ही अधिक सक्रिय रहे हैं। नरेंद्र टिकैत अधिकतर समय अपने कृषि कार्यों मे ही लगे रहते हैं। उनके बड़े भाई नरेश टिकैत बीकेयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं वहीं राकेश टिकैत यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता हैं। राकेश टिकैत के नेत़ृत्व में ही गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों की तरफ से 100 से अधिक दिनों से आं’दोलन जारी है।

समाचार एजेंसी पीटीआई से मुजफ्फरनगर के सिसौली में बात करते हुए नरेंद्र टिकैत ने कहा कि किसानों का आं’दोलन सही है। साथ ही उन्होंने दा’वे के साथ कहा कि अगर उनके परिवार कोई भी एक सदस्य गलत साबित हो जाएगा तो उनका पूरा परिवार आं’दोलन करना छो’ड़ देगा। साथ ही उन्होंने आं’दोलन के माध्यम से पैसा कमाने के आरो’पों को भी खा’रिज कर दिया।

राकेश टिकैत के पुत्र भी हैं आ’दोलन में सक्रिय: चौधरी महेंद्र सिंह टिकैत के पोते और राकेश टिकैत के पुत्र गौरव टिकैत भी किसान आं’दोलन में लगातार सक्रिय हैं। गौरव टिकैत भारतीय किसान यूनियन के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष हैं। हा’ल के दिनों में उन्होंने दर्जनों सभाओं को संबोधित किया है। जिस महापंचायत में राकेश टिकैत नहीं पहुंच रहे हैं उन जगहों पर गौरव टिकैत पहुंच कर किसानों को संबोधित कर रहे हैं।

किसानों का आं’दोलन जारी है: तीन नए कृषि कानू’नों के खि’लाफ किसा’नों का आं’दोलन लगातार जारी है। पिछले 100 से अधिक दिनों से किसान दिल्ली बॉर्डर पर बैठे हुए हैं। सरकार के साथ 11 दौर की वार्ता के बाद भी दोनों पक्ष के बीच कोई फैसला नहीं हो पाया। जिसके बाद से सरकार और किसानों के बीच डे’डलॉक जारी है। दोनों ही पक्षों के बीच अं’तिम बार वार्ता 22 जनवरी को हुई थी।