राम मंदिर पर प्रियंका गाँधी के बयान से सहयोगी पार्टी इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग ना’ख़ुश, कही ये बात

कांग्रेस नीत संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (यूपीए) में अहम सहयोगी इंडियन यूनियन मु’स्लिम लीग (आ’ई’यूएम’एल) ने बुधवार को प्रस्ताव पारित कर अयो’ध्या में राम मंदिर निर्माण पर कांग्रेस महासचिव प्रिंयका गांधी वाद्रा द्वारा दिए गए बयान पर अप्र’सन्नता जताई. मुस्लिम लीग के राष्ट्रीय नेतृत्व की हुई बैठक में पार्टी ने प्रस्ताव को स्वीकार किया और कहा कि ब’यान गलत समय पर दिया गया.

पार्टी ने कहा, ‘‘अयोध्या में राम मंदिर निर्माण पर प्रियंका गांधी वाद्रा द्वारा बेव’क्त दिए गए बयान पर हम अपनी अप्रसन्नता जताते हैं.” हालांकि, पार्टी ने इस घटना को तू’ल नहीं देने का फैसला किया और कहा कि वह इस पर चर्चा दोबारा शुरू करने को लेकर अनि’च्छुक है. पार्टी ने कहा, ‘‘आईयूएमएल ने उच्चतम न्यायालय के फैसले का स्वागत किया था और उसके बाद अब यह अध्याय समाप्त हो चुका है.”

सांसद और आईएमयूएल के आयोजन सचिव ईटी मोहम्मद बशीर ने कहा कि हम इस मा’मले पर दोबारा चर्चा शुरू नहीं करना चाहते हैं. उल्लेखनीय है कि प्रियंका गांधी वाद्रा ने मंगलवार को कहा था कि भगवान राम सभी के हैं और उम्मीद जताई कि आयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए होने जा रहा भूमि पूजन राष्ट्रीय एकता, बंधुत्व और संस्कृति का उत्सव होगा.

राम मंदिर के लिए बुधवार को भूमि पूजन से पहले कांग्रेस नेता ने कहा कि सदियों से भगवान राम के चरित्र ने पूरे भारतीय उपमहाद्वीप के लिए एकजुटता के स्रोत के रूप में काम किया.

अयोध्या में राम मं’दिर के भूमि पूजन से पहले कांग्रेस की ओर से कई तरह के ब’यान सामने आए. पहले कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने शुभ मुहूर्त’ पर सवा’ल उठाए और फिर कमलनाथ की ओर से खुलकर स्वागत किया गया. लेकिन मंगलवार को प्रियंका गांधी वाड्रा ने बयान जारी कर भूमि पूजन के लिए शुभकामनाएं दीं और कहा कि राम सबमें हैं. ऐसा लंबे वक्त बाद हुआ है जब गांधी परिवार के किसी सदस्य ने खुलकर राम मंदिर पर बयान दिया हो.