हा’थर’स के आ’रो’पियों के समर्थन में उतरे ठा’कु’र स’माज के लोग, कैमरे पर दी ध’म’की

Hthras : यूपी के हा’थरस जिले के गांव में एक द’लि’त युवती के साथ क’थित तौर पर गैं’ग’रे’प और ब’र्ब’रता के मा’मले में गि’रफ्तार चार युवकों के समर्थन में उच्‍च वर्ग  के लोग खुलकर सामने आ गए है. उच्‍च जाति के इन लोगों को ना’रे’बाजी करते हुए कैमरे में कैद किया गया है. भी’म आ’र्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद (Chandrashekhar Azad) रविवार को युवती के परिजनों से मिलने के लिए गांव पहुंचे थे.

सामने आए वीडियो में देखा जा सकता है कि ना’रे’बाजी करने वाले लोग किस कदर बे’खौ’फ हैं कि वे पु’लिसवा’लों की मौजूदगी के बावजूद ध’मकी देने से बाज नहीं आ रहे हैं. भीम आ’र्मी के प्रमुख के गांव के दौरे के बाद पु’लिस ने चंद्रशेखर आजाद सहित 400 लोगों के खिला’फ के’स द’र्ज किया है, इन पर क्षेत्र में बड़े पैमाने पर लोगों के एकत्रित होने पर लगे बैन का उ’ल्‍लं’घन करने का आ’रो’प है.

हैरानी की बात यह है कि क’थि’त गैं’ग’रे’प के आ’रो’पियों के समर्थन में एकत्रित हुए करीब 500 लोगों के खिला’फ कोई कार्र’वाई नहीं की गई है. इन ीलोगों में से कुछ तो खुले’तौर पर वाय’रल हुए वीडियो में चंद्रशेखर आजाद को ध’मकी दे रहे हैं.गौरतलब है कि आ’रो’पियों की ब’र्ब’रता की शि’कार युवती की दिल्‍ली के अस्‍पताल में इ’लाज के दौरान मौ’त हो गई थी. युवती के परिवार के लिए विशेष सुर’क्षा की मांग करते हुए आजाद ने कहा, ‘हा’थरस के आ’रो’पियों के समर्थन में खुलेआम बैठकें हो रही हैं.

पी’डि़त के परिवार को खत’रा है

मंगलवार को युवती की दिल्‍ली के एक अ’स्‍प’ता’ल में हुई मौ’त के बाद यह मा’मला पूरे देश में च’र्चा और लोगों के आ’क्रो’श का विषय बन गया है, युवती के परिजनों ने उन्‍हें ध’मका’ए जाने का आ’रो’प लगाया है.

गांव के उच्‍च जाति के लोगों ने राष्‍ट्रीय सवर्ण परिषद की बैठक आयोजित करके आ’रो’प लगाया कि युवती और उसका परिवार चार लोगों पर गल’त आ’रो’प लगा रहा है और उसके बयान के आधार पर ही इन चारों को गि’रफ्तार किया गया है. वे सी’बी’आ’ई जां’च की मांग कर रहे है, जिसकी राज्‍य की योगी आदित्‍यनाथ सरकार ने अ’नुशंसा’ की है.

एक वीडियो में एक शख्‍स को यह कहते हुए सुना जा सकता है, ‘क्‍या आपको सी’बी’आ’ई पर विश्‍’वास नहीं है? उन्‍हें (चंद्रशेखर को) सी’बीआ’ई पर विश्‍वास नहीं है, वह यहां राजनीति करने आए हैं. हमें बस केवल एक बार उनसे मिलने दीजिए, उसके बाद हम सुनिश्चित करेंगे कि उसे विश्‍वास हो जाएगा.’ भी’म आ’र्मी के प्रमुख को बाहर लाने के इ’रादे से यह शख्‍स चिल्‍लाता है, ‘ठाकुर बड़े-बड़े आ’घा’त झे’लने के लिए ही पैदा होते हैं. बाहर आओ, तुम्‍हारे बड़े भाई यहां तुमसे मिलने आए हैं.’

इस दौरान पु’लिस को इससे ब’हस करते हुए भी देखा जा सकता है. 20 साल की युवती पर हम’ले के एक आ’रो’पी का नाम वहीं है जो उस युवती के भाई का है. यह श’ख्‍स कहता है कि उसके भाई ने युवती की ह’त्‍या की और दूसरे शख्‍स को फं’सा दिया गया. वह चिल्‍’ला’ता है, ‘कौन कहता है कि उसके साथ रे’प हुआ.’

 

गौरतलब है कि यूपी पु’लिस ने आगरा की लैब की फो’रें’सिक रि’पोर्ट के आधार पर युवती के उस ब’यान को खारिज कर दिया है कि उसके साथ रे’प हुआ, लेकिन विशे’षज्ञ इस रि’पोर्ट को लेकर सवा’ल उठा रहे हैं. उनका कहना है कि यह रि’पोर्ट अप’राध के 11 दिन बाद क’लेक्‍ट किए गए सैं’पल पर आधारित है.